मुजफ्फरपुर, जेएनएन। जंक्शन के यार्ड की रीमॉडलिंग होगी। यार्ड में दो नए प्लेटफॉर्म तैयार किए जाएंगे। अगस्त के प्रथम सप्ताह में कार्य शुरू होगा। दिसंबर तक पूरा करने का लक्ष्य है। गुरुवार को पूर्व मध्य रेलवे के सीपीटीएम संजय कुमार व अन्य अधिकारियों ने जंक्शन पर नए पैनल केबिन, यार्ड का निरीक्षण करने के बाद ये बातें कहीं। कहा कि आरआरआई को दो फेज में किया जाएगा। प्रथम फेज में यार्ड की रीमॉडलिंग होगी। इसके साथ ही यार्ड में मालगाड़ी के लिए लाइन नंबर छह व सात को तोड़ दिया जाएगा। इस लाइन पर आईलैड प्लेटफॉर्म बनाया जाएगा। जंक्शन पर नए प्लेटफॉर्म चार, पांच, छह व सात नंबर होंगे।

 नई व्यवस्था से 24-25 बोगी के रैक का प्लेटफॉर्म तैयार होगा। यार्ड में बोगी को रखने के लिए लाइन की लंबाई भी बढ़ाई जाएगी। भारत वैगन के आधा भाग में लाइन बनेगी। 5 व 12 नंबर लाइन को रनिंग लाइन बनाने की योजना है। वर्तमान में यार्ड में बोगी रखने के लिए 12 व 18 बोगी की लाइन है।

 सोनपुर मंडल के एडीआरएम पीके सिन्हा ने कहा कि प्रथम फेज में यार्ड रीमॉडलिंग व नए दो प्लेटफॉर्म व आरआरआई कार्य की रूपरेखा तैयार की गई है। दूसरे फेज में कार्य के लिए नरकटियागंज रेलमार्ग पर दोहरीकरण होने के बाद रूपरेखा तैयार होगी। मौके पर सीएओ ब्रजेश खंडेवाल, चीफ इंजीनियङ्क्षरग (निर्माण) एके राय, डिप्टी चीफ इंजीनियर एके मिश्रा, डिप्टी सीएसटी (सिग्नल) संजीव कुमार, सीनियर डीएन (को-ऑर्डिनेशन) अरुण कुमार यादव, डीएन थ्री धर्मेन्द्र कुमार, क्षेत्रीय अधिकारी एके पांडेय, स्टेशन अधीक्षक आमोद कुमार आदि मौजूद थे।

अधिकारियों के साथ बैठक

प्रथम फेज में कार्य चालू करने के लिए सीपीटीएम ने अन्य अधिकारियों के साथ जंक्शन के वीआईपी कक्ष में बैठक की। घंटे भर मंथन किया गया। इस दौरान सिग्नल, परिचालन, इंजीनियङ्क्षरग समेत अन्य सभी विभाग के अधिकारी उपस्थित रहे। 

Posted By: Ajit Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप