मुजफ्फरपुर, जेएनएन। भारतीय लोकतांत्रिक छात्र परिषद के कार्यकर्ताओं ने विधि-व्यवस्था को लेकर परिसर में धरना दिया। धरनास्थल पर कुलपति या उनके प्रतिनिधि के नहीं आने पर नाराज छात्रों ने कुलपति आवास का घेराव कर विरोध जताया। आक्रोशित छात्रों का सामना थाना गेट के पास विश्वविद्यालय अध्यक्ष छात्र कल्याण प्रो.अभय सिंह से हुआ। उनके सामने छात्रों ने नारेबाजी करते हुए समस्याएं रखीं। उन्होंने निदान का भरोसा दिलाते हुए कुलपति से बुधवार को एक प्रतिनिधि मंडल से मिलवाने पर बात की।

 इसके बाद छात्र शांत होकर वापस हुए। भारतीय लोकतांत्रिक छात्र परिषद अध्यक्ष गौरव सिंह ने आरोप लगाया कि दो बार धरना दिया, लेकिन कोई अधिकारी मिलने नहीं आया। इसलिए इस बार धरना के बाद अधिकारियों व कुलपति आवास का घेराव किया गया। धरना की अध्यक्षता रोहित सहनी व संचालन गुलशन पांडेय ने किया। 

इनकी रही भागीदारी 

 गौरव कुमार मुन्ना, नीरज सिंह, आकाश भट्ट, शौर्य नंद देव, शिवम ठाकुर, अभय कुमार, साहिल कुमार, प्रिंस कुमार, विवेक कुमार, मनीष कुमार, रोहित कुमार आदि थे। 

ये हैं मुख्य मांगें 

-छात्र संघ चुनाव तिथि अविलंब घोषित हो। एकडमी कैलेंडर जारी हो।

- बिहार विश्वविद्यालय के अंतर्गत सभी छात्रावासों का नवीनीकरण एवं सभी सरकारी कॉलेजों में छात्रावास सुविधा दी जाए। 

- प्रत्येक कॉलेज के गेट पर गार्ड

की व्यवस्था हो। परिसर में प्रमुख जगह पर ड्राप गेट बने।

- प्रत्येक कॉलेज में कॅरियर काउंसलर की नियुक्ति व काउंसिलिंग व्यवस्था हो। 

- सभी कॉलेजों में अविलंब पूर्णरूपी

प्रधानाचार्य बनाए जाएं। 

- प्रोफेसर और छात्रों की उपस्थिति सख्ती केसाथ नियमित की जाए और बायोमीट्रिक सिस्टम लागू हो।

-  सभी कॉलेजों में स्मार्ट क्लास की व्यवस्था की जाए। सभी पुस्तकालय डिजिटल किए जाएं। 

- सभी छात्रों को वर्ष में एक बार शैक्षिणिक भ्रमण कराया जाए।

- छात्रों को तकनीकी रूप से जोड़ते हए कॉलेज व विश्वविद्यालय की सभी गतिविधियों की सूचना एसएमएस या ई-मेल से दी जाएं। 

- रोजगार सेल का गठन हो और ज्यादा से ज्यादा रोजगार मेला लगाए जाएं।

- डायरेक्ट ऑनलाइन कंप्लेंट पोर्टल का गठन हो व खेल-कूद की लचर व्यवस्था में बदलाव हो। 

- कैंटीन को अविलंब चालू किया जाए व विश्वविद्यालय का मेन गेट खोला जाए। 

- पेंडिंग रिजल्ट की समस्या का स्थायी समाधान निकाला जाए।

- अविलंब प्रोफेसर और गेस्ट फैकल्टी के रिक्त पदों पर भर्ती हो

  इस बारे में बीआरए बिहार विश्वविद्यालय अध्यक्ष छात्र कल्याण प्रो.अभय सिंह ने बताया कि धरना देने से पहले आधिकारिक सूचना मिलनी चाहिए वह नहीं मिली थी। छात्रों ने उनसे अपनी समस्याएं बताईं। उनके निदान की पहल होगी। कुलपति से बुधवार को छात्रों का एक प्रतिनिधि मंडल मिलकर अपनी मांगें रखेगा। 

Posted By: Murari Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस