समस्तीपुर [प्रकाश कुमार]। केंद्र सरकार ने महिलाओं को सशक्त बनाने की दिशा में एक और पहल की है। इसके तहत शहर स्थित काशीपुर में महिला डाकघर खोला जाएगा। यहां पोस्टमास्टर से लेकर पोस्टमैन तक महिलाएं होंगी। इससे आधी आबादी डाक सेवा की हर योजना का लाभ उठा सकेगी। डाकघर खोलने के लिए पोस्टमास्टर जनरल के पास प्रस्ताव भेजा गया है। सहमति मिलने ही काम शुरू कर दिया जाएगा।

  सरकार ने सभी डाक मंडलों में एक-एक महिला डाकघर खोलने का निर्णय लिया है। इसके तहत सूबे के 24 डाक मंडलों में एक-एक महिला डाकघर खोला जाएगा। विभागीय मुख्यालय को भेजे गए प्रस्ताव में उल्लेख किया गया है कि प्रधान डाकघर के आसपास शहर के किसी एक उपडाकघर को बदलकर महिला डाकघर बनाया जा सकता है। सबकुछ सामान्य रहा तो अगले छह महीने में यह कार्य करने लगेगा। महिला डाकघर के मद्देनजर सुरक्षा पर विशेष ध्यान रखा जा रहा। यह भी ध्यान दिया जा रहा कि यहां पर्याप्त संख्या में महिला कर्मियों की तैनाती हो, जिससे वैकल्पिक व्यवस्था बनी रहे। कामकाज में अवरोध उत्पन्न न हो। 

इनसेट 

पोस्टमैन मोबाइल एप से होगा डिजिटिल सिग्नेचर

डाकघर में मोबाइल एप 'पोस्टमैनÓ  भी जल्द शुरू होनेवाला है। हरेक पोस्टमैन के पास यह मोबाइल एप होगा। रजिस्ट्री पत्र, स्पीड पोस्ट डाक या मनीआर्डर की डिलीवरी करने के बाद पोस्टमैन संबंधित व्यक्ति से पहले कागज पर हस्ताक्षर कराते थे, लेकिन अब एप पर रिसीविंग लेंगे। इससे डिलीवरी होते ही तत्काल इसकी जानकारी विभाग को हो जाएगी।

 डाकघर में ऑनलाइन बाजार के विकसित होने से पार्सल सामान की संख्या बढ़ गई है। ऐसे सामान की संख्या बढऩे से डाक विभाग की परेशानी बढ़ गई है। इसके लिए डाक विभाग अलग से नोडल पार्सल घर बनाने की तैयारी में जुट गया है। ताकि, पत्र के साथ पार्सल सामान को अलग रखा जाए और डिलीवरी ब्यॉय लगाकर उसको आसानी से पहुंचाया जा सके।

इस बारे में समस्‍तीपुर के डाक अधीक्षक आरबी पासवान ने बताया कि 'महिला डाकघर खोलने का प्रस्ताव विभाग के मुख्यालय को भेजा गया है। इसकी तैयारी की जा रही है। पोस्टमास्टर जनरल की सहमति मिलते ही इसे शुरू किया जाएगा।Ó 

Posted By: Murari Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस