पूर्वी चंपारण, जासं। नगर पंचायत क्षेत्र के योगियार उर्फ जनेरवा में दहेज की खातिर एक विवाहिता की हत्या कर शव को गायब कर दिए जाने की मामला प्रकाश में आया है। उक्त मामले में मृतका के भाई ने अरेराज ओपी थाने में आवेदन देकर पति सहित पांच लोगों को आरोपित किया है। थानाध्यक्ष सुधीर कुमार ने बताया कि हाजीपुर निवासी चंदन कुमार ने थाने में आवेदन देकर बताया है कि उनकी बहन डौली देवी उम्र (35) की शादी 12 वर्ष पूर्व योगियार जनेरवा गांव के निवासी प्रभु पटवा के बेटे पवन पटवा के साथ हुई थी।

शादी के बाद से ही लगातार ससुराल पक्ष के लोग दहेज की मांग को लेकर उनकी बहन को मारपीट कर प्रताडि़त करते थे। इसी दौरान एक 11 मई को उनको सूचना मिली कि उनके बहन की हत्या कर दी गई है। जिसकी सूचना भाई ने थाने को दी और बुधवार को अरेराज थानें में आवेदन देकर पति पवन पटवा, ससुर प्रभु पटवा, सास, भसुर व देयादिन को आरोपित किया है। मृतका के भाई ने बहन की हत्या कर शव को जला गायब करने का आरोप लगाया है। थानाध्यक्ष ने बताया कि मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए हत्या कर शव को गायब करने के मामले में आरोपी पति व ससुर को गिरफ्तार कर लिया गया है।

महिला की इलाज के दौरान मौत, हत्या का आरोप

थाना क्षेत्र के घासीपाकड वार्ड संख्या चार की एक महिला की इलाज के दौरान एक महिला की मौत हो गई। हालांकि मृतका के पिता ने ससुराल वालों पर हत्या का आरोप लगाते हुए प्राथमिकी के लिए थाना में आवेदन दिया है। पुलिस ने शव को जब्त कर पोस्टमार्टम के लिए मोतिहारी भेज दिया है। बताया जाता है कि उक्त गांव के जयप्रकाश साह की 26 वर्षीया पत्नी ङ्क्षपकी देवी की तबियत खराब होने पर मंगलवार को चकिया के एक निजी नर्सिंग होम में इलाज के लिए लाया गया। जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। लेकिन मृतका के पिता शिवहर जिला के पिपराही थाना क्षेत्र के अम्बा निवासी कमल साह ने स्थानीय थाना में आवेदन देकर पुत्री से साथ मारपीट कर जान से मारने का आरोप लगाया है। बताया जाता है कि मृतका की शादी चार वर्ष पूर्व हुई थी। उसे एक भी संतान नही है।