पश्चिम चंपारण, जेएनएन। जिला अंतर्गत शिकारपुर थाना क्षेत्र में एक गर्भवती युवती को जिंदा जलाने के मामले में पुलिस ने कार्रवाई तेज कर दी है। वहीं, घटना के तीन घंटे बाद गिरफ्तार एक मात्र आरोपित मो. अरमान को पूछताछ के बाद जेल भेज दिया गया। एसपी निताशा गुडिय़ा ने कहा कि मृत युवती के भाई ने थाने में कांड दर्ज कराया है। मंगलवार रात गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज बेतिया में शव का पोस्टमार्टम करा स्वजनों को सौंप दिया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलते ही आरोप पत्र दाखिल होगा। इसके बाद स्पीडी ट्रायल की अनुशंसा होगी। घटना के बाद आरोपित के स्वजन घर छोड़कर फरार हैं।

मैंने ही जला कर मार डाला

आरोपित अरमान ने पूछताछ में स्वीकार किया कि उसने युवती को केरोसिन छिड़क कर जला दिया। हालांकि, पहले वह इन्कार कर रहा था। लेकिन, जब एसपी ने पूछताछ शुरू की तो कहा कि युवती को रास्ते से हटाने के लिए केरोसिन छिड़क कर जलाया था। प्रभारी थानाध्यक्ष सह पुलिस निरीक्षक उपेंद्र कुमार ने इसकी पुष्टि की है।

दफनाई गई युवती

बुधवार को गांव के कब्रिस्तान में युवती को दफना दिया गया। घटना से मातम का माहौल है। ग्रामीण भले ही मुखर नहीं हैं, लेकिन मन में आक्रोश है। लोग आरोपित को कोस रहे थे।

फांसी की सजा दिलाकर लेंगे दम

मृत युवती के भाई ने बताया कि अब मेरे जीवन का एकमात्र लक्ष्य बहन को इंसाफ दिलाना है। जब तक कातिल को फांसी की सजा नहीं हो जाती है, तब तक चुप नहीं बैठेंगे। ताकि, फिर कोई ऐसी दङ्क्षरदगी न कर सके। उसे सजा दिलाने के लिए हमें जिस हद तक जाना होगा, जाएंगे।

आरोपित को कानूनी सहायता नहीं दें

स्थानीय विधिक संघ के सचिव जहांगीर आलम खान ने बताया कि विधिज्ञ संघ ने घटना की घोर निंदा की है। उन्होंने अधिवक्ताओं से अपील करते हुए कहा कि यदि ऐसा कोई मामला सामने आता है तो उसमें आरोपित के पक्ष में कोई सहयोग नहीं करे। यह घटना घोर अपराध है। समाजसेवी वर्मा प्रसाद ने भी ऐसे दरिंदों का सामाजिक बहिष्कार करने की अपील की है।

13 घंटे तक जीवन के लिए जूझती रही

पहले दुष्कर्म, फिर शादी का झांसा देकर यौन शोषण और गर्भवती होने के बाद प्रेमी द्वारा जलाए जाने वाली युवती 13 घंटे तक मौत से लड़ती रही। मंगलवार सुबह प्रेमी अरमान ने घर में घुसकर केरोसिन छिड़क जला दिया। नरकटियागंज अस्पताल में भर्ती कराई गई। प्राथमिक उपचार के बाद बेतिया गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज भेजी गई। 80 फीसद झुलसी युवती ने बेतिया से पटना जाने के दौरान रास्ते में हाजीपुर के पास दम तोड़ दिया।

अरमान ने जलाया कहकर चुप हो गई युवती

80 फीसद झुलसी युवती को नरकटियागंज अस्पताल में इलाज कराने के लिए स्वजन मंगलवार सुबह लेकर आए। सूचना के बाद एसडीपीओ सूर्यकांत चौबे पहुंचे और युवती से बात करने की कोशिश की। युवती ने सिर्फ इतना कहा कि मुझे अरमान ने ही जलाया है। इसके बाद गुम हो गई। करीब दस घंटे तक ङ्क्षजदा रही, लेकिन कुछ बोल नहीं सकी।  

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस