बाबूबरही, संस। बाबूबरही विधायक मीना कामत को क्षेत्रीय भ्रमण के क्रम में जब जनता ने समस्याओं से रूबरू कराया तो वे बिफर पड़ी। गुस्से में तमतमाई विधायक यहां तक बोल गई कि ना तो मुझे आपका वोट चाहिए और ना ही आप। इस प्रकरण का वीडियो भी तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस पर विभिन्न तरह की प्रतिक्रियाएं भी सामने आ रही है। मौके पर मौजूद जदयू प्रखंड अध्यक्ष ने कहा कि एक खास व्यक्ति द्वारा विधायक पर फब्तियां कसे जाने को लेकर महज उस व्यक्ति के लिए इस तरह के भाषा का प्रयोग किया गया।

दरअसल विधायक मीना कामत अपने कार्यकर्ताओं के साथ प्रखंड क्षेत्र के विभिन्न पूजा-पंडालों के भ्रमण पर निकली थी। इसी क्रम में बाबूबरही गोठ अवस्थित दूर्गा पूजा पंडाल में पहुंची। जदयू प्रखंड अध्यक्ष की मानें तो सर्वप्रथम इन्हें पूजा के क्रम में एक खास व्यक्ति द्वारा नीचे उतार दिया गया। इधर, लोगों ने बताया कि पूजा पंडाल से नीचे उतरते ही स्थानीय लोगों द्वारा विधायक से क्षेत्र से गायब रहने, लोगों की सुधि नहीं लेने, बाबूबरही-सलखनिया सड़क की जर्जरता पर सवाल खड़े किए गए। इसी पर विधायक बिफर पडी। इसका वीडियो विभिन्न सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। एक वीडियो 12 सेकंड का है तो दूसरा वीडियो 14 सेकंड का है। वीडियो पर तरह तरह की प्रतिक्रियाएं आ रही है। इधर, जदयू प्रखंड अध्यक्ष बलराज सहनी ने कहा कि वे उस समय वहीं उपस्थित थे। कहा कि जनप्रतिनिधि के समक्ष समस्याओं को रखना जनता का वाजिब हक है। विधायक जवाब भी दे रही थी। इसी क्रम में एक व्यक्ति विशेष ने विधायक के प्रति द्विअर्थी अपमानजनक शब्द का उपयोग किया, जिसके बाद विधायक ने प्रत्युत्तर में यह बातें कही। इधर, बाबूबरही जदयू विधायक मीना कामत ने बताया कि पूजा पंडालों के भ्रमण के दौरान एक खास व्यक्ति ने अमर्यादित भाषा का उपयोग किया जिसके प्रतिक्रिया स्वरूप मैनें कहा कि ना आपके वोट की जरूरत है और ना ही आपकी। यह बात आम जनता के लिए बिल्कुल नहीं कही गई। कुछ विरोधी इसे राजनीतिक रंग देने के प्रयास में जुटे हुए हैं। पूरा वीडियो वायरल नहीं कर, केवल चंद सेकंड के फुटेज को जानबूझकर वायरल किया जा रहा है। पूरा वीडियो देखने से मामला स्वत: स्पष्ट हो जाएगा। 

Edited By: Ajit Kumar