मुजफ्फरपुर, [जेएनएन]। बात 1996 के आमचुनाव की है। ओरिएंट क्लब मैदान में पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर का हेलीकॉप्टर उतरा था। वे उस समय डॉ. हरेंद्र कुमार के पक्ष में चुनाव प्रचार के लिए आए थे। उस समय की याद को ताजा करते हुए डॉ. हरेंद्र कुमार कहते हैं कि यह मैदान चारों ओर से खुला हुआ था। वहीं हेलीपैड बना और चंद्रशेखर उतरे। अब तो मैदान का हाल बहुत बुरा है।

 अब तो शहर में पुराने मैदानों में किसी तरह के आयोजन के बारे में सोचा नहीं जा सकता है। खैर, जब चंद्रशेखर आए तो शाम के चार बज गए थे। पूरा मैदान खचाखच भरा हुआ था। उन्होंने अपनी शैली में संबोधन की शुरुआत की। उस समय में जो देश की परिस्थिति थी उस पर प्रकाश डाला। खासकर अपने प्रधानमंत्री कार्यकाल के बारे में। बिहार की विधि-व्यवस्था पर भी चर्चा की।

 सभा के गवाह रहे समाजवादी नेता तेजनारायण झा उर्फ तेजू भाई कहते हैं कि उस समय की सभा में सुरक्षा के इतने तामझाम नहीं होते थे। नेता से कार्यकर्ता सीधे मंच व आसपास मिल लेते थे। अब तो जो देश के टॉप नेता हैं उनकी सुरक्षा इतनी रहती कि सभा स्थल पर मिलना मुश्किल ही है। चंद्रशेखर जी सादगी पंसद लोग थे। धोती-कुर्ता व एक अलग तरह की दाढ़ी रखते थे। उनकी एक-एक बात पर ताली बजती थी।

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस