बेतिया / लौरिया ( प. चंपारण), जाटी। जिले के लौरिया और रामनगर थाना क्षेत्र में बीते माह जहरीली शराब कांड में 16 लोगों की मौत हो गई थी। इस मामले में पुलिस ने नरकटियागंज के प्रकाश नगर निवासी इथेनाल सप्लायर हीरो अंसारी उर्फ करमुल्लाह और टैैंकर चालक मुजफ्फरपुर जिले के दिघरा निवासी दिलीप कुमार सिंह को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों को लौरिया थाने में अलग- अलग रखकर पूछताछ की गई। इस दौरान कुछ अहम सुराग मिले हैं। इस आधार पर सरगना को दबोचने के लिए छापेमारी जारी है। नरकटियागंज एसडीपीओ कुंदन कुमार ने बताया कि जहरीली शराब कांड में इथेनाल सप्लायरों की भूमिका रही है। इस मामले में हीरो अंसारी उर्फ करमुल्लाह और दिलीप कुमार सिंह को गिरफ्तार किया गया है। हीरो चोरी छिपे इथेनाल की कालाबाजारी करता था। टैंकर चालक दिलीप कुमार सिंह से उसकी मिलीभगत थी। दोनों ने घटना में संलिप्तता स्वीकार की है। रविवार को दोनों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। 

अब तक 18 लोगों की गिरफ्तारी

मामले में पुलिस ने अब तक 18 आरोपितों को गिरफ्तार किया है। कई अन्य के संलिप्त होने की आशंका है। इस आधार पर जांच जारी है। गिरफ्तार आरोपितों से पूछताछ के बाद एक- एक कर शराब धंधेबाजों और सप्लायरों की पहचान की जा रही है।

प्रिंस की तलाश

जहरीली शराब कांड का मास्टरमाइंड प्रिंस है। पूछताछ के दौरान पुलिस को यह जानकारी मिली। पुलिस ने इसकी पुष्टि नहीं की, लेकिन उसकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी है। प्रिंस इथेनाल के अवैध धंधे से जुड़ा है।

15 जुलाई को प्रशासन को मिली थी सूचना

गौरतलब है कि लौरिया प्रखंड क्षेत्र के देउरवा और रामनगर प्रखंड के देवराज क्षेत्र में जहरीली शराब व संदिग्ध परिस्थितियों में 16 लोगों की मौत हो गई। 15 जुलाई को जिला प्रशासन को इसकी सूचना मिली। इसके बाद कार्रवाई तेज हुई। सिकटा के माले विधायक वीरेंद्र प्रसाद गुप्ता जब पहुंचे तो मृतकों के स्वजनों ने चुप्पी तोड़ी। कहा कि गत 13 जुलाई की शाम देउरवा गांव की एक दुकान पर शराब पीने से दर्जनभर की मौत हुई। जबकि, डीएम कुंदन कुमार ने संदिग्ध परिस्थितियों में छह लोगों की मौत की पुष्टि की थी। बाद में मृतकों की संख्या 16 तक पहुंची।  

Edited By: Ajit Kumar