मुजफ्फरपुर/समस्तीपुर, संस। उत्तर बिहार में आसमान में हल्के से मध्यम बादल छाए रहेंगे। इस दौरान अनेक जगहों पर हल्की वर्षा होगी। हालांकि कुछ स्थानों पर मध्यम बारिश होने का भी अनुमान है। यह कहना है मौसम विभाग का। शुक्रवार को जारी मौसम पूर्वानुमान में यह बात कही गई है। अगले 17 अगस्त तक के लिए जारी मौसम पूर्वानुमान में डॉ राजेन्द्र प्रसाद केन्द्रीय कृषि विश्वविद्यालय पूसा ने कहा है कि पूर्वानुमान की अवधि में उत्तर बिहार के जिलों में आसमान में हल्के से मध्यम बादल देखे जा सकते हैं। इस अवधि में उत्तर बिहार के अनेक स्थानों पर हल्की वर्षा की संभावना है। कुछ स्थानों पर मध्यम वर्षा भी होने का अनुमान है। इस अवधि में अधिकतम तापमान 31 से 33 डिग्री सेल्सियस के बीच रह सकता है। जबकि न्यूनतम तापमान 24 से 27 डिग्री सेल्सियस के आस-पास रहने का अनुमान है। पूर्वानुमानित अवधि में पुरवा हवा चलने की संभावना है। औसतन 10 से 15 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवा चलने की संभावना है। सापेक्ष आर्द्रता सुबह में 75 से 85 प्रतिशत तथा दोपहर में 50 से 60 प्रतिशत रहने की संभावना है।

अरहर की फसल में करें निकौनी

किसानों के लिए जारी समसामयिक सुझाव में कहा गया है कि अगात बोयी गई अरहर की फसल में निकौनी तथा छटनी करें। सितंबर अरहर के लिए खेत की तैयारी करें। जिन किसानों के पास खरीफ प्याज का बिचड़ा तैयार है वे उथली क्यारियां बनाकर पंक्ति से पंक्ति की दूरी 15 सेमी, पौध से पौध की दूरी 10 सेमी पर रोपनी करें। क्यारियों की चौड़ाई 2 मीटर एवं लम्बाई 3 से 5 मीटर तक रख सकते हैं। प्रत्येक दो क्यारियों के बीच जल निकास के लिए नालियां अवश्य हो। फूलगोभी की मध्यकालीन किस्में अगहनी, पूसी, पटना मेन, पूसा सिन्थेटिक-1, पूसा शुभ्रा, पूसा शरद, पूसा मेघना, काशी कुवांरी एवं अर्ली स्नोबॉल किस्मों की बुआई नर्सरी में करें। अगात रोपी गई फूलगोभी में पत्ती खाने वाली कीट (डायमंड बैक मॉंथ) की निगराणी करें एवं प्रकोप दिखाई देने पर बचाव के लिए स्पेनोसेड दवा एक मिली प्रति 4 लीटर पानी में घोलकर आसमान साफ रहने पर छिड़काव करें। फूलगोभी की अगात किस्में कुंआरी, पटना अर्ली, पूसा कतकी, हाजीपुर अगात, पूसा दिपाली की रोपाई करें।

 

Edited By: Ajit Kumar