पश्चिम चंपारण, जासं। पिछले पांच दिनों से बाढ़ में सब्जी दुकानदारों के लिए आवंटित स्थल डूबा हुआ है। सब्जी दुकानदारों को कोई जगह दुकान लगाने के लिए नहीं मिल रही है। इस वजहसे वे भूखमरी के कागार पर हैं। रविवार को सब्जी दुकानदारों ने स्थाई दुकान की व्यवस्था कराने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया। दुकानदरों ने बताया कि कोरोना काल के पहले ये सभी बाजार में यत्र तत्र दुकान लगाकर अपना जीवन यापन करते थे। लेकिन कोरोना काल में सरकारी नियम का पालन करते हुए अंचलाधिकारी के निर्देश पर सभी अपनी दुकान अशोक स्तंभ के सामने स्थित रामजानकी मंदिर स्थित तालाब परिसर में ले गए। अभी बारिश व बाढ़ के कारण मंदिर परिसर पूरी तरह से पानी में डूबा हुआ है। अस्थाई शेड भी बनाए थे, जो बाढ़ में बह गया। लाखों रुपये के सब्जी का नुकसान हुआ है। स्थायी दुकान के लिये ये लोग स्थानीय सीओ से मुलाकात किये लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। स्थानीय विधायक विनय बिहारी के यहां रविवार सब्जी विक्रेता पहुंचे । विधायक ने अनुमण्डल पदाधिकारी नरकटियागंज से सम्पर्क कर इनके समस्या के समाधान का अशश्वासन दिया है। सब्जी विक्रेता दिनेश प्रसाद, ने बताया कि हमलोगों को विधायक पर भरोसा है। अगर हमलोगो को उनके प्रयास से स्थायी दुकान की व्यवस्था हो जाती है तो उनका ये उपकार हमलोग कभी नही भूलेंगे। दुकानदारों में दिनेश साह, मनोज साह , भोला कुमार, वीरेन्द्र राम, अशोक प्रसाद , छोटेलाल साह, मुन्ना साह , प्रभु प्रसाद ,कृष्णा साह, राजन कुमार आदि शामिल रहे।