मुजफ्फरपुर : सत्य सनातन धर्म रक्षा एकजुटता मंच संस्कृति संव‌र्द्धन एवं उत्थान के लिए जन-जागरण अभियान चलाएगा। शुक्रवार को कोल्हुआ सत्संग नगर स्थित सुमंगलम भवन में आयोजित बैठक में पंडितों एवं कर्मकांड से जुड़े आचार्य व विद्वानों ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया। सत्य सनातन धर्म रक्षा एकजुटता मंच को जनमानस में फैलाने और बसंत पंचमी तक 11 हजार सदस्य बनाने का लक्ष्य रखा गया। राज्य के सभी जिले में कर्मकांड, गीता, ज्योतिष और धर्मशास्त्र के अध्ययन-अध्यापन के लिए वेद विद्यालय खोलने का सर्वसम्मति से निर्णय हुआ। संगठन के संयोजक आध्यात्मिक गुरु कमलापति त्रिपाठी प्रमोद ने सरकार से राज्य के सभी जिले में तीर्थयात्रा भवन निर्माण कराने की मांग की। साथ ही धार्मिक न्यास बोर्ड का अध्यक्ष किसी संस्कृत के विद्वान को बनाए जाने, धार्मिक स्थलों को कर मुक्त करने, सामान्य वर्ग मंत्रालय का गठन करने और सर्वणों के हित के लिए कानून बनाने, सनातन देवी-देवताओं और धार्मिक स्थानों के ऊपर आघात पहुंचाने वालों पर कठोर दंड का प्रावधान करने, बंद पड़े संस्कृत विद्यालयों को खोलने की मांग की। गौ रक्षा के लिए मनोवैज्ञानिक रूप से जन-जागरण अभियान चलाने का निर्णय लिया गया। कहा कि समाज में 16 संस्कारों के लिए जनमानस को जागृत करना है। कर्मकांड, उपासना, संध्योपासना, गीता, गायत्री, धर्मशास्त्र, तीर्थ यात्रा, देव दर्शन, पितृ पूजन, पितृ तर्पण के महत्व को लोगों के बीच पहुंचाना है। मौके पर अध्यक्ष कथावाचक धीरज झा धर्मेश, उपाध्यक्ष दिवाकर उपाध्याय, संगठन मंत्री प्रमोद ओझा, कोषाध्यक्ष सुनील कुमार मिश्रा, महामंत्री धर्मेंद्र कुमार तिवारी, महामंत्री अखिलेश त्रिपाठी, मीडिया प्रभारी नितेश दुबे, तकनीकी प्रभारी प्रियरंजन, संगठन सदस्य संजय तिवारी आदि मौजूद थे। मौके पर ब्राह्माण समाज के लोगों ने मंच की सदस्यता ग्रहण की।

Edited By: Jagran