मुजफ्फरपुर, जेएनएन। विश्वविद्यालय और कॉलेजों में ऑफलाइन कक्षाओं का संचालन नहीं हो सकेगा। राजभवन ने विवि और कॉलेजों को ई.ओपनिंग कर जुलाई से ऑनलाइन पढ़ाई शुरू करने का आदेश दिया गया है। कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप और विवि और कॉलेजों से मांगे गए फीडबैक के आधार पर यह निर्णय लिया गया है। राजभवन की ओर से जारी पत्र में साफ कहा गया है कि विवि और कॉलेजों में स्थिति सामान्य होने और सरकार का आदेश आने के बाद ही कक्षाएं शुरू करने पर विचार किया जाएगा।

ऑनलाइन कक्षाओं का संचालन शुरू करे विवि

जारी पत्र में कहा गया है कि विवि और कॉलेज ऑनलाइन कक्षाओं का संचालन शुरू करे। साथ ही वीडियो लेक्चर और ई.कंटेंट बनाकर उसे विवि के वेबसाइट पर अपलोड करें। साथ ही इसका साप्ताहिक रिपोर्ट तैयार कर राजभवन के उपलब्ध कराने आ निर्देश दिया गया है।

विद्यार्थियों की समस्याओं का ऑनलाइन निष्पादन करें

राजभवन ने निर्देश दिया है कि ऑनलाइन कक्षाओं का संचालन कर विद्यार्थियों का सिलेबस पूरा कराएं। विद्यार्थियों की समस्याओं का ऑनलाइन ही निष्पादन करें। कॉलेज और विवि में रेगुलर कक्षाओं पर सरकार के निर्णय के बाद ही दिशानिर्देश जारी किया जाएगा। बता दें कि पिछले सत्र में भी इंजीनियरिंग कॉलेजों का सिलेबस ऑनलाइन ही पूरा कराया गया। वहीं कॉलेजों की ओर से भी ऑनलाइन कक्षाओं के साथ ही वीडियो लेक्चर और ई.कंटेंट अपलोड किया गया था।

विवि कर्मचारियों की हड़ताल समाप्त

बीआरए बिहार विश्वविद्यालय में अधिकारियों की वार्ता के बाद कर्मचारियों की हड़ताल आठवें दिन समाप्त हो गई। अधिकारियों की ओर से विवि में नव प्रतिनियुक्त कॉलेज कर्मियों को वापस भेजने और अन्य कॉलेज के कर्मियों को भी मूल महाविद्यालयों में भेजने का आश्वासन दिया गया। इसके बाद कर्मी हड़ताल से लौटे। बता दें कि कॉलेज के तीन कर्मचारियों की विवि में प्रतिनियुक्ति के विरोध में विवि कर्मी 23 जून से ही कलमबंद हड़ताल पर थे। मंगलवार को वार्ता के बाद लिखित रूप से कहा गया कि 22 जून को जिन तीन कर्मचारियों को विवि में प्रतिनियुक्त किया गया है उनका आदेश विवि प्रशासन वापस लेगा। वहीं कॉलेज के जो भी शिक्षकेत्तर कर्मचारी पूर्व से विवि में प्रतिनियुक्त या स्थानांतरित हैं उन्हें भी मूल कॉलेज में वापस भेजने की बात हुई। इसके बाद कर्मचारी हड़ताल से वापस आए।  

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस