पश्‍च‍िम चंपारण (स‍िकटा), जासं। ब‍िहार के स‍िकटा में एक चौकाने वाली घटना सामने आई है। ब‍िट‍िया की शादी तय कर दुल्‍हन पक्ष व‍िवाह की तैयारी में जुटा था। खुशी-खुशी सारे र‍िश्‍तेदारों को शादी में आने के ल‍िए सूच‍ित कर द‍िया गया था। इसी बीच दुल्‍हन पक्ष के लोगों को एक हैरान करने वाली सूचना म‍िली। क‍िसी ने बताया क‍ि दूल्‍हा अब शादी नहीं करना चाहता। दुल्‍हन पक्ष ने मामले की जानकारी होने पर आनन-फानन में दूल्‍हे से संपर्क क‍ि‍या तो बात सही न‍िकली। फ‍िर क्‍या था इस घटना की सूचना चारों तरफ फैल गई। तरह-तरह की चर्चा शुरू हो गई।

पुल‍िस को चकमा देकर था फरार

मामला पुल‍िस में जाने के बाद से दूल्‍हा फरार चल रहा था। दुल्‍हन पक्ष की तरफ से लगातार पहल के बाद हुई कार्रवाई। दूल्‍हे की ग‍िरफ्तार के बाद उससे पूछताछ कर जेल भेज द‍िया गया है।

धोखाधड़ी कर शादी तोडऩे के आरोप में दूल्हा गिरफ्तार

पहले शादी तय किया। दहेज के रुप में ड़ेढ लाख रुपये भी लिए। फिर शादी करने से इंकार कर दिया। इस मामले में सिकटा थाने की पुलिस ने आरोपित दूल्हे को गिरफ्तार कर शनिवार को न्यायिक हिरासत में भेज दिया। मामले के आठ आरोपित अभी फरार है।थानाध्यक्ष रमेश कुमार महतो ने बताया कि इस घटना में लठियांही गांव के शेख तैयब के पुत्र अकील अजहर (25) को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। बताया जाता है कि लठियांही गांव के स्वर्गीय शेख एकराम की पुत्री की शादी आरोपित अकील अजहर से तय हुई थी। जिसमें दहेज के रूप में दुल्हन पक्ष ने ड़ेढ लाख रुपये दूल्हा पक्ष को दिया था। इसके बावजूद शादी तोड़ दी गई। घटना लगभग छह महीनें पहले की है। दुल्हन की मां शाहजहां खातुन की शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज की गई थी। जिसमें दूल्हा अकील अजहर व उसके पिता शैख तैयब समेत नफीस आलम, खालीक शेख, दारूद शेख, तसलीमा शेख, रोबिना खातुन आदि नौ लोगों को आरोपित किया गया था।

Edited By: Dharmendra Kumar Singh