पूर्वी चंपारण, जेएनएन। पूर्वी चंपारण के मेहसी थानाक्षेत्र स्थित हरपुरनाग पंचायत में गुरुवार की शाम जुलूस में अश्लील गीत बजाने व कीचड़ उछालने को लेकर दो पक्ष के लोग आपस में भिड़ गए। विवाद इतना बढ़ गया कि दोनों पक्षों की ओर से पथराव होने लगा। पथराव में मेहसी थाना के एक दारोगा और पंचायत के मुखिया समेत दोनों पक्ष के करीब आधा दर्जन लोग जख्मी हो गए। चकिया के पुलिस निरीक्षक की सरकारी जीप क्षतिग्रस्त हो गई। भीड़ को शांत करने के लिए पुलिस को लाठी चलानी पड़ी।

 इसके बाद भी दोनों पक्षों के बीच तनाव कायम रहा। देर शाम जिलाधिकारी रमण कुमार और पुलिस अधीक्षक उपेंद्र कुमार शर्मा मौके पर पहुंचे और स्थिति को नियंत्रित किया गया। अधिकारियों ने साफ किया कि कहीं भी किसी तरह का कोई तनाव नहीं है। दोनों पक्ष के लोग शांत हैं। हंगामा खड़ा करनेवाले लोगों की खोज की जा रही है। दोषी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। 

 बताया गया है कि गुरुवार की शाम एक पक्ष के लोग हरपुरनाग में लगनेवाले मेला में शामिल होने के लिए जुलूस लेकर निकले। जुलूस में कथित तौर पर अश्लील गीत बजाने व कीचड़ उछालने को लेकर विवाद हो गया। दोनों पक्ष के लोग आमने सामने हो गए। मौके पर मौजूद चकिया के डीएसपी शैलेंद्र कुमार के नेतृत्ववाली टीम ने बल प्रयोग कर तत्काल भीड़ को शांत करा लिया। लेकिन, हरपुरनाग और कुड़वापर के बीच एक बार फिर विवाद हो गया। दोनों पक्ष के लोगों ने पथराव किया। जिसमें चकिया के पुलिस निरीक्षक रामाश्रय यादव की सरकारी जीप क्षतिग्रस्त हो गई।

 मेहसी थाना के दारोगा मनोज सिंह, हरपुरनाग पंचायत के मुखिया दिनेश यादव समेत कई ग्रामीण जख्मी हो गए। गंभीर रूप से जख्मी चार लोगों की चिकित्सा स्थानीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में कराई गई। इस बीच अनियंत्रित भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने लाठी चलाई, इसके बाद भीड़ तितर-बितर हुई और स्थिति नियंत्रित हुई। देर शाम डीएम-एसपी के नेतृत्व में पहुंची कई थानों की पुलिस ने मिलकर स्थिति को संभाला। फिलहाल इलाके में शांति कायम है। 

Posted By: Ajit Kumar