मुजफ्फरपुर [जेएनएन]। पूर्व भारतीय क्रिकेटर व कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ बिहार के मुजफ्फरपुर में देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया है। इसपर शुक्रवार को सुनवाई हुई। मुख्‍य न्‍यायिक दंडाधिकारी हरि प्रसाद ने संचिका जांच के लिए अपने पास रख ली। अब अगली सुनवाई 29 अगस्त को होगी।

मालूम हो कि अधिवक्‍ता सुधीर कुमार ओझा ने सिद्धू पर देशद्रोह का परिवाद दायर किया है। यह परिवाद पाकिस्तान में वहां के थल सेनाध्यक्ष से गले मिलने को लेकर दायर किया गया है।

परिवाद में लगाए ये आरोप

अपने परिवाद में अधिवक्‍ता सुधीर कुमार ओझा ने कहा है कि 18 अगस्त को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पद के लिए इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने नवजोत सिंह सिद्धू गए थे। इसके लिए उन्‍होंने राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री व पंजाब के मुख्यमंत्री से अनुमति नहीं ली थी। वहां उन्‍होंने पाकिस्तान के सेनाध्यक्ष जावेद वजवा से गले मिलते तस्वीरें खिंचवाईं। साथ ही गुलाम कश्मीर के राष्ट्रपति महमूद खान के बगल की सीट पर बैठे।

परिवाद पत्र के अनुसार उस दिन पूरा देश पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर शोक में डूबा था और सिद्धू वहां जश्न मना रहे थे। पाकिस्तानी सेना आए दिन सीमा पर गोलीबारी करती। समाचार माध्यमों में यह समाचार प्रमुखता से आया। पाकिस्‍तानी सेना अकारण गोलीबारी कर जवानों व निर्दोष नागरिकों को मार रही है। ऐसे में सिद्धू का उस जश्न में भाग लेना शर्मनाक व देशद्रोह था। इससे देश मर्माहत है।

Posted By: Amit Alok