मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

मुजफ्फरपुर [जागरण टीम]। बिहार की नदियोें में अब पानी घट रहा है। हालांकि, उत्‍तर बिहार के चंपारण, मधुबनी, सीतामढ़ी, समस्तीपुर और दरभंगा के कई इलाकों में परेशानी बरकरार है। सड़कें और झोपडिय़ां ध्वस्त होने बाढ़ पीडि़त बेहाल हैं। समय पर राहत सामग्री नहीं मिलने से नाराज बाढ़ पीडि़तों ने झंझारपुर, शिवहर और दरभंगा जिले के हनुमाननगर में हंगामा, सड़क जाम व तोडफ़ोड़ किए। इस बीच छठे दिन दरभंगा-समस्तीपुर रेलखंड पर ट्रेनों का परिचालन शुरू हो गया।
समस्तीपुर-दरभंगा रेलखंड पर चलने लगीं ट्रेनें
समस्तीपुर-दरभंगा रेलखंड के हायाघाट-थलवारा स्टेशन के बीच बाढ़ के पानी का दबाव कम होने के बाद छठे दिन शुक्रवार को ट्रेनों का परिचालन शुरू हो गया। पुल संख्या 16 पर जांच के लिए लाइट इंजन का परिचालन किया गया। बाद में दरभंगा से मालगाड़ी चलाई गई। शुक्रवार को स्वतंत्रता सेनानी एक्‍सप्रेस और एक स्पेशल सवारी गाड़ी का परिचालन इस रेलखंड पर किया गया। हालांकि, 24 ट्रेनों का परिचालन बाधित रहा।
बाढ़ प्रभावित इलाकों में अब कटाव से परेशानी
इस बीच उत्‍तर बिहार में नदियां स्थिर हाेती या घटती दिख रहीं हैं। पश्चिम चंपारण में गंडक समेत पहाड़ी नदियां शांत रहीं। बीती शाम चार बजे गंडक में एक लाख नौ हजार क्यूसेक पानी डिस्चार्ज किया गया। नदियां कटाव कर रहीं हैं। बाढ़ प्रभावित दोन के गांवों में सरकारी सहायता का इंतजार है। धान और गन्ने की फसलें बर्बाद हो गई हैं। इससे लोग चिंतित हैं।  पूर्वी चंपारण के बंजरिया प्रखंड के किसानों के घर में दाना नहीं हैं। सड़कों पर तीन से चार फीट पानी बह रहा है। नाव की व्यवस्था काफी कम है। लोग परेशान हैं।

जगह-जगह हंगामा व तोड़फोड़
बाढ़ प्रभावित मधुबनी के बेनीपट्टी प्रखंड के गांवों में टूट स्थल से पानी का बहाव हो रहा है। लोग नाव से सफर कर रहे हैं। नाराज पिपरौलिया पंचायत के लोगों ने  झंझारपुर अंचल कार्यालय पर जमकर हंगामा किया और तोडफ़ोड़ की। उन्‍होंने अंचल कर्मी रमेश कुमार से मारपीट की। पिपरौलिया के मुखिया रविन्द्र कुमार ठाकुर और लोहना दक्षिण के पैक्स अध्यक्ष श्रवण झा भीड़ के हत्थे चढ़ गए। एक महिला भी घायल हो गई।
शिवहर प्रखंड कार्यालय में बाढ़ पीडि़त महिलाओं ने जमकर तोडफ़ोड़ किया। दरभंगा जिले के बाढ़ प्रभावित 16 प्रखंडों में कमला बलान, बागमती और अधवारा समूह की नदियों के जलस्तर में कमी आई है। वहां भी हनुमाननगर में उखरा चौक के पास बाढ़ राहत समेत अन्य मांगों को लेकर भाकपा-माले ने रोड जाम किया।

सीतामढ़ी का नेपाल से संपर्क भंग
समस्तीपुर के बिथान और कल्याणपुर प्रखंड के कई गांव पानी से घिरे हैं। सीतामढ़ी जिले में बागमती और अधवारा समूह की नदियों के जलस्तर में हल्की वृद्धि दर्ज की गई है। कटौझा में बागमती नदी का जलस्तर खतरे के निशान को पार कर गया है। तेज धूप के चलते घरों में घुसा पानी सूखने लगा है। सीतामढ़ी का नेपाल समेत कई इलाकों से सड़क संपर्क भंग है।  

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Amit Alok

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप