मुजफ्फरपुर, जेएनएन। अभी पूरी मानवता को कोरोना से खतरा है। ऐसे में शारीरिक दूरी को हर कीमत पर बनाकर रखना चाहिए। चैत्र नवरात्र और कन्या पूजन में भी। बाबा गरीबनाथ धाम के प्रधान पुजारी पंडित विनय पाठक ने कहा कि संपूर्ण मानव के कल्याण के लिए ही हम अपने आराध्य देवता व देवी की पूजा करते हैं। अभी चैत नवरात्रा का समय पावन समय चल रहा है। लेकिन संपूर्ण मानव के कल्याण व उनको कोरोना जैसी महामारी से बचाव के लिए लॉकडाउन किया गया है।

लोगों का जमावड़ा नहीं हो

कोरोना एक ऐसी बीमारी है जिसमें सटीक दवा नहीं होने से बचाव ही सबसे बड़ा उपाय है। एक जगह पर लोगों का जमावड़ा नहीं हो। मानव के कल्याण के लिए ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लॉकडाउन लगाया है। नवरात्रा में अपने यहां कुंआरी भोजन की परंपरा है। लेकिन उसमें भीड़ न हो इसलिए उसपर जो भी खर्च आए, उसका दान हम कोरोना महामारी के बचाव के सरकार के राहत कोष में करके भी पुण्य के भागी हो सकते हैं।

सूखा भोजन दे सकते

इस पावन मौके पर वैसे गरीबों को भी सूखा भोजन दे सकते जिनके सामने संकट है। उन्होंने कहा कि या देवी सर्व भूतेषु भकित रूपेण संस्थिता......। माता कहती हैं सच्चे मन से भक्ति व मानव के कल्याण के लिए जो दान करता वह महापुण्य का भागी होता है। अपने घर में नियमित मां की पूजा अर्चना करें। विधि विधान से हवन हो। लेकिन इस बात का पूरा ध्यान रखें कि लॉकडाउन में अपने घर परिवार का ख्याल करें खुद बचें व दूसरे को भी बचाएं। मानव कल्याण के लिए ही अभी मंदिर हो या घर कहीं पर भीड़ न लगाएंं और न भीड़ लगने दें।  

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस