सीतामढ़ी, जेएनएन। एसपी अनिल कुमार द्वारा गठित पुलिस की टीम ने बेला थाना क्षेत्र अंतर्गत नेपाल सीमा के पास छापेमारी कर एक नेपाली समेत तीन शातिर लुटेरों को हथियार के साथ गिरफ्तार करते हुए लुटेरों के अंतरराष्ट्रीय गिरोह का उदभेदन करने में सफलता पाई है। पुलिस ने बेला थाना क्षेत्र अंतर्गत नेपाल जाने वाली सड़क में नरगा व परसा के पास छापेमारी कर इलाके में बड़े वारदात को अंजाम देने की साजिश रच रहे तीन बदमाशों को दबोच लिया।

 हालांकि इस दौरान लुटेरों के दो सहयोगी फरार हो गए। गिरफ्तार लुटेरों में पड़ोसी देश नेपाल के सरलाही जिलांतर्गत मलंगवा थाना के मननपुर निवासी शातिर उदय राय, बेला थाना के मलहाटोल निवासी विनोद सहनी और सोनबरसा थाना के तिलगही निवासी लाल बाबू साह शामिल हैं। पुलिस ने लुटेरों के पास से एक देसी पिस्टल, पांच कारतूस, दो बाइक और चार मोबाइल भी बरामद किया हैं।

 पूछताछ में लुटेरों ने 24 नंवबर की रात बेला थाना क्षेत्र के नरगा गांव स्थित पूर्वे पेट्रोलियम नामक पेट्रोल पंप के मैनेजर को जख्मी कर 8.61 लाख रुपये और सीएसपी संचालक से साढ़े चार लाख की लूट समेत कई मामलों में अपनी संलिप्तता स्वीकार की हैं। सोमवार को अपने कार्यालय कक्ष में आयोजित प्रेस वार्ता में एसपी अनिल कुमार ने इसकी जानकारी दी।

 एसपी ने बताया कि गिरफ्तार लुटेरों का सीतामढ़ी के अलावा नेपाल में भी कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। बताया कि फरार होने वाले दोनों बदमाशों को चिन्हित कर लिया गया हैं, उसकी गिरफ्तारी को छापेमारी जारी है। एसपी ने बताया कि गिरफ्तार लुटेरे सीमाई इलाकों में आतंक के पर्याय बने थे। मौके पर एसडीपीओ सदर डॉ. कुमार वीर धीरेंद्र और बेला थानाध्यक्ष अशोक कुमार आदि मौजूद थे। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021