मुजफ्फरपुर, जागरण संवाददाता। विश्वविद्यालय थाना क्षेत्र के एलएस कॉलेज परिसर से अपहृत छात्रा का छह दिनों बाद भी सुराग नहीं मिला है। इसके कारण स्वजन चिंतित हैं। स्वजनों को अप्रिय घटना का डर सता रहा है। बता दें कि 11 अप्रैल की सुबह छात्रा घर से मॉर्निंग वॉक पर  निकली थी, मगर घर नहीं लौटी। इसके बाद स्वजनों ने काफी खोजबीन की, लेकिन कोई पता नहीं चलने पर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। स्वजनों ने छात्र बिट्टू कुमार पर संदेह जताते हुए कहा है कि उसने उनकी बेटी का अपहरण किया है। मामला दर्ज करने के बाद भी पुलिस अब तक इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं कर सकी है। इसके कारण स्वजन काफी परेशान हैं। बताते चलें कि छह माह पूर्व छात्रा के साथ आरोपित ने रास्ते में छेड़छाड़ किया था। साथ ही डेरा पर आकर धमकी भी दिया था। 

सोना नहीं लौटाने के कारण मुथूट के दफ्तर को कराया गया बंद

सदर थाना क्षेत्र के भगवानपुर स्थित मुथूट फाइनेंस कंपनी के दफ्तर को शनिवार को ग्राहकों ने सोना की मांग करते हुए बंद करा दिया। उग्र लोग कार्यालय के गेट पर धरने पर बैठ गए। ग्राहकों का कहना है कि कंपनी के कर्मी उनके सोने नहीं लौटना चाह रहे हैं। हालांकि  तीन मार्च को ही कोर्ट के आदेश पर सदर पुलिस ने आभूषण को कंपनी को लौटा दिया था। कुछ ग्राहकों ने बताया कि 2018 में सोना गिरवी रखकर लोन लिया था। इसके बाद फरवरी 2019 में दफ्तर में लूट हो गई। एक हजार से अधिक ग्राहकों का करीब 33 किलो सोना लूटा गया था। इसमें आधे से अधिक सोना की बरामदगी की जा चुकी है। कोर्ट के आदेश पर सोना रिलीज भी हो चुका है। मगर, कंपनी की तरफ से सोना नहीं लौटाया जा रहा है। वहीं कंपनी के कर्मियों का कहना है कि कोरोना की वजह से दफ्तर में कामकाज प्रभावित है। इस कारण सोना नहीं लौटाया जा रहा है। बता दें कि इसके पूर्व भी ग्राहकों द्वारा कार्यालय को बंद कर धरना-प्रदर्शन किया गया था।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप