मुजफ्फरपुर, जेएनएन। मंत्री जी आप के कार्यकाल में मैं अपने वार्ड में एक छोटा सा काम नहीं करा पाया। मेरे वार्ड में बैकुंठ पुरी मोहल्ला है जहां सालों भर पानी लगा रहता है। पेवर ब्लॉक बिठाकर समस्या का हल किया जा सकता है। इसके लिए नगर आयुक्त को एक दर्जन पत्र लिख चुका हूं। बार-बार जमा पानी जेट्टिंग मशीन से निकालना पड़ता है। जेट्टिंग मशीन से पानी निकालने में तेल पर जितना खर्च हो चुका है उससे कम खर्च पर वहा पेवर ब्लाक बिछ जाता। क्या उनके आदेश पर एक छोटा सा काम नहीं हो सकता। यह पीड़ा किसी आम नागरिक या वार्ड पार्षद की नहीं बल्कि महापौर सुरेश कुमार की है।

 उन्होंने बुधवार को नगर विकास एवं आवास मंत्री सुरेश कुमार को पत्र लिखकर यह गुहार लगाई है। महापौर के इस पत्र ने निगम की कार्यप्रणाली को कटघरे में खड़ा कर दिया है। महापौर वार्ड एक के पार्षद हैं और बैकुंठपुरी मोहल्ला उन्हीं के वार्ड में स्थित है। महापौर का कहना है कि उनको जो अधिकार प्राप्त है उसी के तहत काम करते हैं लेकिन उनका अनुपालन नहीं होता। महापौर होते हुए भी वह जब अपने वार्ड का एक काम नहीं करा सकते हैं तो यह कुर्सी किस काम की। 

कभी ध्वस्त हो सकता अंचल एक का कार्यालय

महापौर सुरेश कुमार ने बुधवार को सुबह ब्रह्मपुरा स्थित अंसल एक कार्यालय का निरीक्षण किया। उन्होंने कार्यालय की जर्जर हालत पर चिंता व्यक्त की। कहा कि सशक्त स्थाई समिति की पहली ही बैठक में अंचल कार्यालयों की मरम्मत का प्रस्ताव पारित हुआ था लेकिन आज तक अनुपालन नहीं हुआ। कार्यालय के ध्वस्त होने पर बड़ी दुर्घटना हो सकती है। उन्होंने नगर आयुक्त को इस पर संज्ञान लेने को कहा। 

रैन बसेरा पर होगा प्याऊ सार्वजनिक स्थलों पर टैंकर

गर्मी में राहगीरों की प्यास बुझाने के लिए नगर निगम शहर के सभी रैन बसेरों पर प्याऊ की व्यवस्था करेगा। साथ ही सार्वजनिक स्थलों एवं प्रमुख चौक चौराहों पर निगम का टैंकर लगाया जाएगा। महापौर सुरेश कुमार के निर्देश के बाद उप नगर आयुक्त हीरा कुमार ने शहर के सभी रैन बसेरा पर मिट्टी का घर आ रखकर पानी पिलाने की व्यवस्था को कहा है। वहीं बाहर खाना प्रभारी को चौक चौराहों एवं स्टेशन रोड में पानी टैंकर लगाने का निर्देश दिया है।

Posted By: Murari Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस