पूर्वी चंपारण, जेएनएन। शादी के मंडप पर दूल्हा को नशे में आना महंगा पड़ गया। जैसे ही दुल्हन को मालूम चला कि दूल्हा नशे की स्थिति में है तो उसने बिना वक्त गंवाए इसका प्रतिकार किया व शादी से इन्कार कर दिया। घटना अहिरगांवा गांव की है। यहां कोटवा के अहिरौलिया गांव के भोला ठाकुर के पुत्र रंजन की शादी के लिए बारात गुरुवार की रात आई थी। शादी की तैयारी हो गई थी। बाराती खाना भी खा चुके थे। इसी बीच शादी के मंडप पर दुल्हन को शराब की  दुर्गंध आने के बाद वह उठकर बोली कि वह नशेड़ी से शादी नहीं करेगी।

कुछ देर के लिए सब अवाक रह गए। लेकिन बुजुर्ग महिलाओं ने कहा कि लड़की ठीक कह रही है। जैसे ही यह खबर बारात में पहुंची वे अनहोनी की आशंका भांप भागने लगे। स्वजन व दूल्हा को ग्रामीणों ने बंधक बना लिया। सुबह दूल्हा व दुल्हन पक्ष को स्थानीय लोगों ने बैठाकर आपस में समझौता किया। पंचों ने तय किया कि लड़की पक्ष द्वारा खर्च की गई राशि को लड़का पक्ष दे दे। इसी बात पर दूल्हा व उसके स्वजनों को मुक्त किया गया। दूल्हा को बिना दुल्हन वापस लौटना पड़ा। मुखिया प्रतिनिधि प्रभु पासवान ने बताया की नशेड़ी से शादी नहीं कर लड़की ने समाज को एक नई दिशा देने का काम किया है।

Posted By: Murari Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस