मुजफ्फरपुर। भाकपा-माले पोलित ब्यूरो सदस्य सह खेत मजदूर सभा के राष्ट्रीय महासचिव धीरेंद्र झा, केंद्रीय कमेटी सदस्य व अखिल भारतीय प्रगतिशील महिला एसोसिएशन(एपवा) की राष्ट्रीय महासचिव मीना तिवारी की उच्च स्तरीय टीम बुधवार को मुजफ्फरपुर पहुंची। टीम पुलिस लाइन कन्हौली स्थित माले कार्यालय पर हमला और तोड़फोड़ का मुआयना किया। पुलिस की बदसलूकी की शिकार महिलाओं व अन्य लोगों से मिलकर हालात के बारे में जानकारी ली। फिर हरिसभा चौक स्थित जिला कार्यालय में मीडिया से बात करते हुए कहा कि भाकपा-माले के कार्यालय पर विगत दो दिनों से लगातार जारी जानलेवा हमले व तोड़फोड़ के बावजूद अभी तक किसी भी हमलावर को गिरफ्तार नहीं होना आश्चर्यजनक हैं। माले कार्यकर्ताओं व गरीबों के घर में आधी रात में घुसकर घंटों महिलाओं व बच्चियों के साथ मारपीट व बदसलूकी की गई। जिसमें सात महिलाएं बुरी तरह से घायल हैं। पुलिस के साथ पार्टी कार्यालय पर हमला करने वालों में कई अपराधी भी थे। आरोप लगाया कि हमला करने वाले कई को नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा का संरक्षण प्राप्त है। कहा कि कुछ दूरी पर स्थित एक मोहल्ले में रास्ता निकालने का पार्टी कार्यालय पर हमले से कोई संबंध नहीं है। 15 सदस्यीय पंच ने रास्ता निकालने के लिए वहां के लोगों से बातकर पांच फीट रास्ता निकालने का फैसला किया। रास्ता निकालने के पंचों के फैसले का पार्टी स्वागत करती है। दोनों नेताओं ने कई पंचों से भी भेंट की। पंच भी रास्ते के मामले को पार्टी कार्यालय पर हमले से जोड़ कर प्रचारित करने पर आश्चर्य व्यक्त कर रहे थे। हमले के खिलाफ भाकपा माले ने किया सत्याग्रह बीएमपी 06 स्थित कार्यालय पर मंगलवार की रात हुए हमले को लेकर भाकपा माले ने बुधवार को जिलाधिकारी के समीप सत्याग्रह किया। इस दौरान हमलावरों की गिरफ्तारी को लेकर नारेबाजी की। इसके बाद जिलाधिकारी को मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा। जिला सचिव कृष्ण मोहन ने कहा कि 19 दिसंबर को निकले ऐतिहासिक सीएए एनपीआर एनआरसी विरोधी मार्च से शुरू कर व शहर के नागरिक सवालों पर लगातार नगर विकास मंत्री के खिलाफ जारी आंदोलन से घबरा कर मंत्री के इशारे पर लोगों को उकसा कर रास्ते के विवाद को बताकर हमला करवाया है। जिलाधिकारी व एसपी को मांग पत्र सौंपते हुए माले के प्रतिनिधि मंडल ने कहा कि मंगलवार की रात्रि 12:30 बजे से 3:00 बजे तक मिठनपुरा थाना प्रभारी, बजरंग दल व हमलावरों ने जिस तरह पार्टी समर्थक परिवारों को बबर्रतापूर्वक पीटा है। यह किसी बड़े दबाव में किया गया है। इसके लिए अभी मिठनपुरा थाना प्रभारी को बर्खास्त करना चाहिए। इसके साथ पार्टी समर्थकों के जान की रक्षा की गारंटी करना होगी। वक्ताओं ने कहा कि कार्यालय और समर्थक परिवारों पर हमले का पार्टी संघर्ष के रास्ते करारा जवाब देगी। मौके पर जिला कमेटी के सदस्य परशुराम पाठक, विकेश कुमार, दीपक कुमार, मोहम्मद एजाज आदि मौजूद थे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021