मोतिहारी (पू.च), {संजय परिहार}। आजादी के अमृत महोत्सव के तहत डाक विभाग पूर्वी चम्पारण जिला में पोस्टकार्ड लेखन अभियान चलाएगा। जिसमें बिहार डाक परिमंडल को 50 लाख का लक्ष्य मिला है | सभी डाक प्रमण्डल के विभिन्न स्कूलों के विद्यार्थी प्रधानमंत्री को पोस्टकार्ड लेखन के माध्यम से “भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के अनसुने नायकों और आजादी के शताब्दी वर्ष 2047 में उनके भारत की परिकल्पना से अवगत कराएंगे। यह पत्र लेखन अभियान 1 दिसंबर से 20 दिसम्बर तक चलेगा।

मध्य प्रदेश डाक परिमंडल तथा स्कूल शिक्षा एवं साक्षरता विभाग द्वारा इस अभियान के तहत प्रदेश में 75 लाख पोस्टकार्ड लेखन का लक्ष्य रखा गया है। पोस्टमास्टर एस एस जौहरी ने बताया कि डाक विभाग द्वारा इसे लेकर पूरी तैयारी कर ली गई है। अभियान प्रतियोगिता स्वरूप में है। जिसमें केंद्रीय विद्यालय, नवोदय विद्यालय के साथ-साथ सीबीएसई, आइसीएसई व राज्य शिक्षा बोर्ड से संबद्ध शासकीय तथा निजी स्कूलों के कक्षा चौथी से 12 वीं तक के विद्यार्थी भाग ले सकेंगे। प्रतिभागी विद्यार्थी उक्त दो विषयों में से किसी एक विषय पर पोस्टकार्ड लेखन कर सकेंगे। पोस्टकार्ड लेखन के लिए प्रतिभागी हिंदी, अंग्रेजी के साथ संविधान की सभी अधिसूचित भाषाओं का उपयोग कर सकेंगे।

अधिकतम 10 पोस्ट कार्ड होंगे शॉर्टलिस्ट

सर्वोत्तम विचारों वाले अधिकतम 10 पोस्ट कार्डों को शॉर्टलिस्ट कर सभी प्रविष्टियों की स्क्रीनिंग की जाएगी। इन सर्वश्रेष्ठ 10 पोस्ट कार्डों को स्कैन करके एससीईआरटी के पोर्टल पर संबंधित स्कूल द्वारा अपलोड किया जाएगा। राज्य के अंतर्गत स्टेट काउंसिल आफ एजुकेशन रिसर्च एंड ट्रेनिंग पोर्टल के 10 सर्वश्रेष्ठ प्रविष्टियों को शॉर्टलिस्ट करेगा तथा सीबीएसई और स्टेट बोर्ड की संयुक्त सूची से 75 सर्वश्रेष्ठ प्रविष्टियों के अंतिम चयन के लिए सीबीएससी को भेजा जाएगा। इन 75 चयनित प्रविष्टियों को जनवरी 2022 के तीसरे या चौथे सप्ताह में अखिल भारतीय स्तर पर होने वाले कार्यक्रम में भाग लेने के लिए सीबीएसई द्वारा डाक विभाग को प्रेषित किया जाएगा।

अधिकारी का क्या कहना है

यह प्रतियोगिता आजादी के गुमनाम नायको के प्रति विद्यार्थियों में चेतना लाएगी साथ ही वह भविष्य में कैसा भारत चाहते हैं इससे प्रधानमंत्री को अवगत कराने का मौका मिलेगा।- रामनाथ शर्मा डाक अधीक्षक चंपारण प्रमंडल

Edited By: Dharmendra Kumar Singh