मुजफ्फरपुर। बीएड कोर्स में फीस बढ़ोतरी के फैसले से असंतुष्ट विद्यार्थियों का हुजूम शुक्रवार को विश्वविद्यालय पहुंचकर प्रदर्शन किया। कुलपति डॉ. अमरेंद्र नारायण यादव के आवास पर होने से आक्रोशित छात्र उनके वहां पहुंच गए और प्रदर्शन करने लगे। इसके बाद कुलपति से मिलकर अपनी बाते रखीं। बिहार टीचर्स ट्रेनिंग एसोसिएशन की याचिका पर सुनवाई के बाद हाइकोर्ट ने बीएड कोर्स में दो वर्ष के लिए एक लाख पचास हजार आठ सौ चालीस रुपये फीस तय कर दी है। यह फैसला विद्यार्थियों को नगवार गुजर रहा है। कुलपति ने विद्यार्थियों को समझाया कि अभी हाइकोर्ट, राजभवन या सरकार के स्तर पर फीस बढ़ोतरी का आदेश मुझे प्राप्त नहीं हुआ है। अगर हाइकोर्ट ने ऐसा आदेश दिया है तो विद्यार्थी अपील में जा सकते हैं।

विद्यार्थियों की ये है दलील

विद्यार्थियों का कहना है कि फीस बढ़ोतरी ही करनी है तो चालू सत्र से इसको लागू किया जाए। वर्ष 2016-2018, 2017-19 के विद्यार्थी पर यह लागू नहीं किया जाए। विभिन्न कॉलेजों से आए ललित कुमार, विक्रांत कुमार, विक्रम कुमार, ऋतु कुमार, रजनीश कुमार, अनुप्रिया, कोमल, बोलबम कुमार, बबलू कुमार, राजन कुमार, अंशु प्रिया, रौशन कुमार, विकास कुमार, दीनानाथ तिवारी, दिवाकर कुमार, तरुणेश कुमार ने कहा कि सरकार ने 2016-18 के सत्र में 95 हजार रुपये ही फीस लागू की थी। अगले सत्र में 1.05 लाख हुई। वह भी मान्य थी, लेकिन बाद के दिनों में बीएड कॉलेज 1.35 लाख रुपये और कुछ इससे भी अधिक वसूलने लगे। इस हिसाब से भी नए आदेश के मुताबिक अब करीब 20 हजार रुपये अधिक विद्यार्थियों को देने पड़ेंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस