दरभंगा, जेएनएन। बिरौल थाना क्षेत्र के सिसौनी गांव स्थित सुपौल-कुशेश्वरस्थान मुख्य मार्ग जाम करने वाले संगठन के लोगों  से वार्ता करने पहुंची पुलिस टीम पर आंदोलनकारियों ने जमकर रोड़ेबाजी कर दी। इसमें सहायक थानाध्यक्ष किशोर कुणाल झा का दाहिना पैर टूट गया जबकि चौकीदार मो. जजील का सिर फट गया। दोनों को सीएचसी में भर्ती कराया गया, जहां डॉ. वीपी द्विवेदी ने चौकीदार की गंभीर स्थिति देखते हुए उसे डीएमसीएच रेफर कर दिया। इलाका घंटों रणक्षेत्र बना रहा। आंदोलनकारियों पर पुलिस ने भी जमकर लाठियां चटकाई। तब जाकर स्थिति नियंत्रित हुई।

 बताया गया कि नव भारत युवा सामाजिक संगठन के कार्यकर्ताओं ने पांच सूत्री मांगों को लेकर सुपौल-कुशेश्वरस्थान मुख्य मार्ग को जाम कर दिया था। जाम के कारण वाहनों की लंबी लाइन लग गई। आंदोलनकारी सांसद, विधायक और मंत्री मदन सहनी के विरुद्ध नारेबाजी कर रहे थे। स्थानीय पुलिस के आग्रह को कोई मानने को तैयार नहीं था। इसके बाद बिरौल एसडीओ ब्रजकिशोर लाल और एसडीपीओ दिलीप कुमार झा वार्ता करने पहुंचे और शांतिपूर्ण तरीके से जाम हटाने का आग्रह किया। इस बीच अचानक आंदोलनकारी उग्र हो गए और हंगामा करने लगे। 

 आक्रोशित लोग सिसौनी से शंकर रोहार सड़क का नालायुक्त नवीकरण, पोखराम एचीएचसी में 24 घंटे चिकित्सकों की नियुक्ति, महिला प्रसव केंद्र की व्यवस्था, गौड़ाबौराम प्रखंड के बगरसी हसोपुर में उप स्वास्थ्य केंद्र का संचालन, पोखराम गांव में कमला नदी पर आरसीसी पुल का निर्माण और कमला नदी के उड़ाहीकरणकी मांग पर अड़े हुए थे। देखते ही देखते आंदोलनकारियों ने रोड़ेबाजी शुरू कर दी। पुलिस ने भी जमकर लाठियां भांजी। सभी इधर-उधर भागने लगे। कुछ ही देर में सभी आंदोलनकारी दोबारा रेलवे गुमटी पर फिर से एकत्रित हो गए और रेलवे लाइन से पत्थर उठाकर चलाना शुरू कर दिया। पुलिस ने भी खदेड़-खदेड़ कर मारना शुरू दिया। इससे पूरा इलाका रणक्षेत्र बन गया।

 सूचना पर कई थाने की पुलिस भी वहां पहुंच गई। पुलिस ने संगठन  अध्यक्ष कमलेश राय सहित आधा दर्जन लोगों को दबोच लिया। एसडीपीओ झा ने बताया कि निरोधात्मक कार्रवाई के तहत कमलेश राय से एक लाख का बाउंड भरवाया गया था। बावजूद, उसने शांति भंग करने की कोशिश की। इस कारण प्राथमिकी दर्ज कर भरे गए बाउंड राशि की वसूली की जाएगी। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस