मुजफ्फरपुर, जागरण संवाददाता। स्मार्ट सिटी मिशन के तहत जल्द ही 56 एकड़ में फैले सिकंदरपुर मन को पिकनिक स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा। मनोरंजन के साथ-साथ स्वास्थ्य लाभ के लिए शहरवासी यहां सुबह-शाम आ सकेंगे। योजना को मूर्त रूप देने के लिए एजेंसी चयन का काम एक या दो दिन में हो जाएगा। मन के विकास के लिए 142.13 करोड़ का डीपीआर तैयार किया गया है। एजेंसी का चयन होते ही एक सप्ताह के अंदर उसे कार्यादेश देने की तैयारी स्मार्ट सिटी कंपनी द्वारा की गई है। 

योजना के तहत सिकंदरपुर मन के चारों तरफ टहलने के लिए जागर्स पाथ, फिटनेस पार्क एवं योग पार्क का निर्माण होगा। मन के चारों तरफ साइकिल ट्रैक निर्माण होगा। मनोरंजन के लिए म्यूजिकल फाउंटेन बनेंगे। यहां आने वाले लजीज व्यंजनों का लुत्फ उठा सके इसके लिए यहां फूड कोट का निर्माण होगा। मन के चारों तरफ स्टेप गार्डेन, सर्कुलर प्लाजा एवं फूड क्योस्क, कम्युनिटी क्लब, आइकोनिक स्ट्रक्चर, चिल्ड्रेन पार्क का भी निर्माण होगा। झील में वोटिंग की सुविधा होगी। मन के बगल में आधुनिक धोबी घाट का निर्माण होगा ताकि मन का पानी गंदा नहीं हो सके। मन के किनारे वाटर ट्रीटमेंट प्लांट होगा ताकि गंदा पानी का उपचार कर मन में डाला जा सके।

निगम के जलापूर्ति पाइप लाइन में मोटर लगाने वालों पर होगी कार्रवाई

मुजफ्फरपुर : यदि आपने अपने घर में निगम से पानी का कनेक्शन लिया है और मोटर लगाकर पानी खींच रहे हैं तो सचेत हो जाइए। मोटर लगाकर निगम के जलापूर्ति लाइन से पानी खींचने वालों पर निगम प्रशासन कार्रवाई की तैयारी कर रहा है। नगर आयुक्त विवेक रंजन मैत्रेय ने पाइप लाइन निरीक्षकों को सर्वे कर शहर के वैसे सभी घरों को चिह्नित करने का आदेश दिया है जो मोटर लगाकर निगम के पाइप लाइन से पानी खींच रहे है। नगर आयुक्त का कहना है कि मोटर लगाकर पानी खींचने से सभी लोगों के घरों तक पानी नहीं पहुंच पाता। निगम को यह भी शिकायत मिली है कि पानी का कारोबार करने वाले कुछ लोग निगम के पाइप लाइन में मोटर लगाकर पानी का दोहन कर रहे है। ऐसे लोगों को भी चिह्नित करने को कहा गया है। उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।  

Edited By: Ajit Kumar