मुजफ्फरपुर, जेएनएन। तुर्की ओपी क्षेत्र के सुमेरा गांव के मुखिया पति मो. अलीशान हत्याकांड में एसआइटी ने कई जगहों पर छापेमारी कर छह संदिग्धों को हिरासत में लिया है। पूछताछ कर सत्यापन की जा रही है। एसआइटी ने इन सभी को मोतिहारी, पताही, कुढऩी और तुर्की इलाके से दबोचा है। घटना में शामिल आरोपितों से इन सभी के प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से संपर्क होने की बात सामने आई है। पूछताछ की जा रही है। हालांकि, घटना के पांचवें दिन भी पुलिस को महत्वपूर्ण सफलता हाथ नहीं लगी। तीन नामजद आरोपितों के खिलाफ वारंट लेकर पुलिस संभावित ठिकानों पर छापेमारी कर रही है।

बड़े गिरोह की साजिश 

 सदर थाना क्षेत्र का रहने वाले एक शातिर की भी संलिप्तता घटना में सामने आई है। वह कैश लुटेरा गिरोह का सरगना है। पूर्व में जेल भी जा चुका है। वह अत्याधुनिक हथियार रखने का शौकीन है। चर्चा है कि कैश वैन से बड़ी लूट की वारदात को अंजाम देने के बाद उसने एके-47 भी खरीदी थी। सदर थाना क्षेत्र स्थित उसके घर पर भी पुलिस ने छापेमारी की।

अदावत को खंगाल रही पुलिस

अलीशान की पुरानी अदावतों को भी पुलिस खंगाल रही है। एसएसपी ने जो आठ बिंदुओं पर जांच का निर्देश दिया है, उसने भी इस बिंदु को शामिल किया गया है। इसके लिए पूर्व में दर्ज मामलों की फाइलें भी खोली जा रही है। इधर, पुलिस ने सुमेरा गांव से कुछ दूरी पर एक दुकान में लगे सीसी कैमरे को खंगाला। तीन संदिग्धों को देखा गया है।

करीबी से चल रही पूछताछ

 अलीशान के कुछ करीबी से भी पुलिस पूछताछ कर रही है। नामजद आरोपित प्रेम साह, अमर साह और राजा बाबू गुप्ता अब भी फरार हैं। 

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ajit Kumar