पूर्वी चंपारण, जेएनएन। बिहार की सीमा से सटे पड़ोसी देश नेपाल में सात पाकिस्तानी आतंकियों के घुसने की सूचना है। जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े ये आतंकी भारत में अपने नापाक इरादों को अंजाम देने की फिराक में हैं। इस तरह के मैसेज सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। इससे सुरक्षा एजेंसियों के कान खड़े हो गए हैं। इसे लेकर भारत-नेपाल सीमा पर अलर्ट जारी किया गया है।इधर बॉर्डर से सटे बिहार के रक्‍सौल डीएसपी ने कहा कि पुलिस पूरी तरह सतर्क है।  

वायरल मैसेज के मुताबिक, कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद पाक आतंकी भारत में बड़ी घटना को अंजाम देने की कोशिश में हैं। बताया गया कि काठमांडू एयरपोर्ट पर इन आतंकियों की  संदिग्ध गतिविधियों को देखकर नेपाली सुरक्षकर्मियों ने पीछा भी किया, लेकिन सफलता नहीं मिली। सातों के काठमांडू में अलग-अलग लोगों से मिलने के बाद सीमावर्ती पर्सा और बारा जिले के वीरगंज कलैया तक आने की सूचना है।

हालांकि, रक्सौल और वीरगंज के सुरक्षाकर्मी कुछ भी बोलने से परहेज कर रहे हैं। वीरगंज आने के बाद सभी आतंकी मुड़ली जामा मस्जिद, श्रीपुर मस्जिद, कास्मिया मस्जिद, मस्जिद अबरार, सखुआ परसौनी गांव पालिका की मस्जिद के आसपास दिखे। बताया जा रहा है कि सुरक्षा निकाय की नजर में आने के बाद वे सब भूमिगत हो गए। ये अभी भी इन इलाकों में छिपे हैं।

बताया जा रहा है कि स्थिति सामान्य होने के बाद इन्हें एक-एक कर बॉर्डर पार कर भारत के विभिन्न स्थानों पर पहुंचाया जाएगा। भारत में इनके एजेंट और स्लीपिंग सेल्स ने जहां रेकी की है, वहां दशहरा और दीपावाली के बीच हमले की आशंका है। 

उधर, रक्सौल डीएसपी संजय कुमार झा ने कहा कि ताजिया जुलूस, अनंत चतुर्दशी को लेकर विशेष सतर्कता के निर्देश हैं। बॉर्डर पर कई सुरक्षा एजेंसियां सक्रिय हैं। सोशल मीडिया या नेपाली मीडिया में क्या चल रहा है, यह जांच का विषय है।

Posted By: Rajesh Thakur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप