पटना [जेएनएन]। मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौन हिंसा कांड के मुख्‍य आरोपित ब्रजेश ठाकुर को पटियाला की जेल में प्रताडि़त किया जा रहा है। यह आरोप ब्रजेश के बेटे व बेटी ने लगाया है। इस संबंध में उनके सुप्रीम कोर्ट को पत्र लिखा, जिसपर कार्रवाई करते हुए कोर्ट ने ब्रजेश को पटियाला के मजिस्ट्रेट के सामने पेश करने तथा सोमवार तक मेडिकल बोर्ड बना जांच कराने व रिपोर्ट देने को कहा है।

यह है मामला

विदित हो कि टाटा इंस्‍टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज (टिस) की सोशल ऑडिट में बिहार के बालिका आश्रय गृहों की हालत खराब पाई गई थी। रिपोर्ट में वहां शरीरिक व मानसिक प्रताड़ना का जिक्र है। रिपोर्ट में  ब्रजेश ठाकुर द्वारा संचालित मुजफ्फरपुर बालिका गृह का भी नाम दर्ज होने के कारण उसके खिलाफ कार्रवाई की गई। मामले की जांच सीबीआइ कर रही है। इस बीच गिरफ्तार ब्रजेश को  31 अक्टूबर को भागलपुर के विशेष केंद्रीय कारा (कैंप जेल) से पंजाब के पटियाला स्थित नाभा जेल भेज दिया गया है।

ब्रजेश के बेटे-बेटी ने सुप्रीम कोर्ट को लिखा पत्र

ब्रजेश ठाकुर के बेटे व बेटी ने सुप्रीम कोर्ट को पत्र लिखकर कहा है कि उनके पिता को पटियाला जेल में शारीरिक व मानसिक प्रताड़ना दी जा रही है। इससे उनकी हालत बिगड़ गई है। इस पत्र का सुप्रीम कोर्ट ने संज्ञान लेकर ब्रजेश की मेडिकल जांच का आदेश दिया है।

Posted By: Amit Alok