समस्तीपुर, जागरण संवाददाता। कोरोना वायरस व संक्रमण के खिलाफ जिले के सभी प्रखंडों में टीकाकरण अभियान चल रहा है। टीकाकरण को लेकर परिवार एवं स्वास्थ्य कल्याण मंत्रालय व राज्य सरकार के कार्यपालक निदेशक ने फिर से नई गाइडलाइन जारी की है। इसके तहत कोविशील्ड टीके का पहला डोज लेने वालों के लिए दूसरे डोज का अंतराल बढ़ा दिया गया है। नई गाइडलाइन के अनुसार कोविशील्ड टीके दोनों डोज की बीच की अवधि बढ़ाई गई है। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. सतीश कुमार सिन्हा ने बताया कि सरकार के निर्देशानुसार पहले डोज के 84 से 112 दिन अर्थात 12 से 16 सप्ताह के बीच दूसरा डोज दिया जाएगा।

दूसरा डोज लेने में अनदेखी न करें लाभार्थी

जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी ने बताया कि टीकाकरण को लेकर सरकार की ओर से जो भी नई गाइडलाइन आई हैं, उनसे सभी प्रखंडों के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी व टीकाकरण सत्र के संचालकों को अवगत कराया गया है। जिसके आधार पर अब सत्रों का संचालन किया जाएगा। डीआईओ के अनुसार कई लोग कोरोना टीका का पहला डोज ले लेने के बाद दूसरा डोज समय पर नहीं ले रहे हैं। उन्होंने कहा जो लोग इस प्रकार की अनदेखी कर रहे हैं, वो ऐसा न करें। संक्रमण काल में इस तरह की लापरवाही ठीक नहीं है। उन्होंने पहला डोज ले चुके लाभार्थियों से समय पर दूसरा डोज लेने की अपील की है। ताकि, वह संक्रमण की संभावना से मुक्त रह सकें।

वैक्सीन लेने के बाद भी नियमों का पालन जरूरी

कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज ले लेने के बाद भी सावधानी जरूरी है। ऐसा नहीं कि किसी ने कोरोना का टीका ले लिया, तो वे पूरी तरह से सुरक्षित हो गए। ऐसा तब तक नहीं होगा, जब तक सभी लोग टीका नहीं ले लेते हैं। उसके बाद भी टीका लेने वालों को कोरोना की गाइडलाइन का सख्ती से पालन करना होगा। घर से बाहर निकलते वक्त मास्क लगाना होगा। भीड़ से बचना होगा। शारीरिक दूरी का पालन करना होगा। एक-दूसरे के बीच दो गज की दूरी रखनी होगी। घर में भी बात करते वक्त मास्क जरूर लगाएं।

निर्धारित तिथि पर दूसरा डोज अवश्य लें

डीआईओ ने बताया कि जिस केंद्र पर कोरोना टीका का पहला डोज लेंगे। निर्धारित तिथि पर अवश्य दूसरा डोज लेना है। अगर कोई कोरोना टीका का दूसरा डोज नहीं लेता है, तो उसके शरीर के अंदर एंटीबॉडीज विकसित नहीं होगी। इसलिए अगर कोरोना की चपेट से पूरी तरह से बचना है तो समय पर कोरोना टीका का दूसरा डोज अवश्य लें। दूसरा डोज नहीं लेने की लापरवाही भूल से भी नहीं करनी चाहिए।