समस्तीपुर, जासं। शहर के मथुरापुर स्थित एक सभा भवन में गुरुवार को रबी महाअभियान सह जिला स्तरीय कर्मशाला आयोजित हुई। कार्यक्रम का उद्धाटन दरभंगा प्रमंडल के संयुक्त निदेशक नईम अशरफ ने दीप प्रज्जवलित कर किया। इस दौरान एक सभा आयोजित हुई। रबी मौसम की खेती एवं अन्य कृषि कार्य के लिए जिला एवं प्रखंड स्तरीय पदाधिकारियों तथा प्रसार कर्मियों को दक्ष बनाया गया। संयुक्त निदेशक ने रबी में किसानों की आमदनी दोगुनी करने के प्रयास को लेकर नई तकनीक और आधुनिक कृषि पद्धति से किसानों को अवगत कराने की जानकारी देने का निर्देश दिया। जिला कृषि पदाधिकारी ने रबी मौसम की खेती एवं अन्य कृषि कार्य के लिए कृषि क्षेत्र में चलाई जा रही महत्वाकांक्षी योजनाओं का प्रचार-प्रसार करने के साथ ही विभिन्न फसलों की उत्पादकता एवं उत्पादन बढ़ाने के लिए किसानों के साथ मिल कर काम करने की अपील की। 

मिट्टी जांच के आधार पर संतुलित मात्रा में उर्वरकों का प्रयोग, समय से फसल की बुआई, फफूंद नाशक एवं कीटनाशक से बीजोपचार, सिंचाई के लिए जल प्रबंधन, खरपतवार नियंत्रण, दीमक एवं चूहा नियंत्रण, समेकित कीट प्रबंधन तथा समेकित पोषक तत्व प्रबंधन आदि के बारे में किसानों को दक्ष बना कर रबी की उत्पादकता बढ़ाने पर जोर दिया। कार्यक्रम में रबी की प्रमुख फसलें, औद्योगिक फसलें, जैविक खेती, कृषि यांत्रिकरण योजना, आत्मा योजना, ईख विकास योजना, फसल अवशेष प्रबंधन, किसान पुरस्कार, सूक्ष्म सिंचाई योजना, समेकित कृषि प्रणाली, मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना आदि के विषय में विस्तृत जानकारी दी गई। अध्यक्षता जिला कृषि पदाधिकारी सह आत्मा परियोजना निदेशक विकास कुमार ने की। संचालन कृषि समन्वयक रंधीर कुमार झा ने किया। मौके पर कृषि विज्ञान केंद्र बिरौली के वरीय वैज्ञानिक डा. आरके तिवारी, सहायक निदेशक (रसायन) अभिषेक कुमार, सहायक निदेशक (उद्यान) डा. श्रीकांत, उप परियोजना निदेशक (आत्मा) गंगेश कुमार चौधरी सहित अन्य उपस्थित रहे। 

Edited By: Ajit Kumar