मधुबनी, जेएनएन। खुटौना प्रखंड के खुटौना बाजार स्थित चार मतदान केंद्रों पर मंगलवार को छह सौ से अधिक लोगों को मतदान से वंचित हो जाना पड़ा। यहां के मतदान से वंचित लोग पहले तो बीडीओ को स्थानीय आवास पर एकत्र हुए, बाद में उनके कार्यालय पर जाकर हंगामा किया। उसके बाद बीडीओ से कक्ष में मिल कर यह समस्या रखी। वार्ड चार के मतदाता रामनारायण नायक उर्फ रामा नायक के अनुसार लोगों को कहा गया था कि जिनकी मतदान पर्चियां घरों तक नहीं भेजी गई है वे मतदान के दिन अपने-अपने मतदान केंद्र पर आकर सहायक बीएलओ से ले लें।

   उनके एवं अन्य मतदाताओं के अनुसार मतदान केंद्रों पर जब वे वोट डालने पहुंचे तो बताया गया कि उनके नाम मतदाता सूची में नहीं है। जिस कारण वे मतदान नहीं कर सकते।मतदान से वंचित ऐसे लोगों में आधी संख्या महिला मतदाताओं की है। अंबेदकर नगर के अजा कोटि के ऐसे मतदाता मतदाता पहचान पत्र लेकर घूमते नजर आए।सभी का कहना था कि वे विगत लोकसभा एवं विधानसभा चुनावों में उन्होंने वोट डाले थे। वंचित मतदाताओं ने मतदाता सूची संधारण में लगाए गए कर्मियों पर साजिश के तहत उनके नाम मतदाता सूची से हटा देने का आरोप लगाया।

   इस संबंध में प्रखंड विकास पदाधिकारी सह प्रखंड निर्वाची पदाधिकारी प्रभात कुमार दास ने कहा कि अगर यह चूक जानबूझ कर किया गया है तो उसके जवाबदेह कर्मियों पर जांच कर कार्रवाई की जाएगी। वैसे कुछ कर्मियों से बात करने पर कहा कि सॉफ्टवेयर में गड़बड़ी के कारण ऐसा हुआ है। यह पूछने पर की विगत जनवरी में मतदाता सूची प्रकाशित हुई और संबंधित बीएलओ को इसकी जवाबदेही दी गई थी तो ऐसा कैसे हुआ तो वे इसका जवाब नहीं दे सके।

 

Posted By: Ajit Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप