मुजफ्फरपुर, जेएनएन। Unlock-1.0 में परिवहन सेवा शुरू होने के दूसरे दिन भी अधिकतर बसें खाली चलीं। यात्रियों की संख्या कम होने से यह स्थिति है। हालांकि सोमवार की तुलना में यात्रियों की संख्या कुछ बढ़ी है। सीट से भी काफी कम यात्री होने से बस संचालकों के ईंधन का खर्च भी मुश्किल से निकल पा रहा। इसको लेकर अधिकतर संचालकों ने बसों का परिचालन नहीं किया। बैरिया बस पड़ाव में बसें खड़ी रहीं।

सबसे अधिक पटना जा रहीं बसें

पटना के लिए सबसे अधिक बसें चलीं। हालांकि इस रूट में भी यात्रियों की संख्या कम रही। दरभंगा, समस्तीपुर, मधुबनी, हाजीपुर, सीतामढ़ी, शिवहर, छपरा, मोतिहारी आदि रूट के लिए एक-दो बसें ही चलीं। मोटर ट्रांसपोर्ट फेडरेशन के जिला प्रवक्ता कामेश्वर महतो ने कहा कि यात्रियों की संख्या काफी कम है। व्यवस्था पटरी पर आने में लंबा समय लगेगा। यात्रियों की संख्या कम होने से बस संचालकों का ईंधन का खर्च भी नहीं निकल पा रहा है।

सिलीगुड़ी, रांची, पूर्णिया के लिए भी चलीं बसें

बैरिया बस पड़ाव से लंबी दूरी की भी बसें चलीं। हालांकि इनमें महज पांच से छह यात्री ही रहे। मंगलवार का सिलीगु्ड़ी, रांची, पूर्णिया आदि के लिए भी एक-एक बस चलाई गई।

बसें नहीं की जा रहीं सैनिटाइज

परिवहन विभाग द्वारा बसों के परिचालन से पूर्व धोने व सैनिटाइज करने का आदेश दिया गया है। अधिकतर बसों में इसका पालन नहीं हो रहा है। साथ ही गाइडलाइन के भी कई निर्देशों का पालन नहीं हो रहा है। हालांकि संचालकों का कहना है कि बसों को सैनिटाइज करके ही चलाया जा रहा है।

पथ परिवहन निगम की एक-दो बसें ही चलीं

बिहार राज्य पथ परिवहन निगम की बसों का भी बुरा हाल है। यात्रियों की संख्या काफी कम रहने से निगम की बसें खाली ही चलीं। इससे निगम को आर्थिक नुकसान हो रहा है। यात्रियों की संख्या को देखते हुए निगम ने कई रूटों में एक-दो बसें ही चलाईं।  

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस