मुजफ्फरपुर, जागरण संवाददाता। बाइकर्स गिरोह के बदमाशों द्वारा हर दिन उत्पात मचाया जा रहा है। बावजूद पुलिस की तरफ से ठोस कार्रवाइ नहीं की जा रही है। नतीजा सड़क पर चलना लोगों के लिए मुश्किल बन गया है। रिकार्ड पर गौर करें तो शहर से लेकर गांव तक बाइकर्स बदमाश लूटपाट व छिनतई की वारदात को अंजाम दे रहे हैं। मगर पुलिस की तरफ से मामला दर्ज करने के बाद कोई कार्रवाई नहीं की जाती है। इससे अपराधियों के हौसले बुलंद है। शनिवार की सुबह आमगोला ओवरब्रिज के समीप एक दंपती से लूटपाट की कोशिश की गई। मगर दंपती के साहस के सामने लुटेरे भाग निकले। हालांकि इस दौरान किसी तरह की अप्रिय घटना नहीं हो सकी।

 मगर अधिकतर घटनाओं में विरोध करने पर अप्रिय वारदात को अपराधी अंजाम देकर भाग निकलते है। इस घटना को लेकर पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठने लगे है। आखिर सुबह में पुलिस की गश्ती क्यों नहीं थी। जबकि वरीय अधिकारी का आदेश है कि 24 घंटे गश्ती में पदाधिकारी रहेंगे। वहीं इसके पूर्व अहियापुर में कुरियर के दफ्तर से 14 लाख रुपये लूट मामले में भी छठें दिन पुलिस खाली हाथ है। मोबाइल टावर लोकेशन व टावर डंपिंग सिस्टम से निकाले गए डिटेल्स पर पुलिस की कई जगहों पर छापेमारी चल रही है। मगर अब तक घटना में शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं होना पुलिस के लिए चुनौती बनी है।

 बता दें कि मंगलवार की रात बाइक सवार चार अपराधियों ने कुरियर कंपनी के दफ्तर में धावा बोलकर लूटपाट की थी। जिसमें पिस्टल के बल पर कर्मियों व गार्ड को कब्जे में लेकर काउंटर, आलमीरा व अन्य जगहों पर रखे गए करीब 14 लाख रुपये नकदी लूट लिए गए थे। मगर अब तक पुलिस को कोई कामयाबी नहीं मिलना पुलिस के कार्यशैली पर सवाल पैदा करता है। हालांकि  पुलिस अधिकारियों का कहना है कि बाइकर्स बदमाशों की गिरफ्तारी को संयुक्त अभियान चलाया जा रहा है। जल्द ही परिणाम मिलेंगे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप