मुजफ्फरपुर : कुढ़नी प्रखंड मनरेगा कार्यालय तुर्की पर मंगलवार को बलौरडीह पंचायत के थतिया के प्रवासी मजदूरों ने काम की मांग को लेकर प्रदर्शन किया। इनका कहना था कि देश में लॉकडाउन लगने से उनके सामने।रोजी- रोटी की समस्या खड़ी हो गई। वे परदेस में काम कर रहे थे। काम बंद होने पर अपने घर लौट गए। यहा भी उन्हें काम नहीं मिल रहा है। आरोप लगाया कि मनरेगा में बिचौलिए हावी है। जॉब कार्ड नहीं मिलने और काम करने के बाद भी खाते में मजदूरी का पैसा नहीं भेजने का आरोप लगाया। प्रमुख प्रतिनिधि खुर्शीद आलम ने मनरेगा कार्यालय पहुंच उन्हें शात कराया। पीओ दिनेश कुमार ने आश्वासन दिया कि उनकी शिकायत शीघ्र दूर कर दी जाएगी। शेष मजदूरों को शीघ्र जॉब कार्ड उपलब्ध करा दिया जाएगा। साथ अक्टूबर से सभी को काम दिया जाएगा।

हंगामे के बीच समिति ने पारित कीं 144 योजनाएं

पारू प्रखंड के नए सभागार में मंगलवार को हुई पंचायत समिति की बैठक में 144 योजनाएं पारित किए गए। कार्यवाही शुरू होते ही मुखलाल ठाकुर, अशोक कुमार, वसी आलम प्यारे भाई समेत सभी सदस्यों ने एक स्वर से बैठक में भाग नहीं लेने पर सीडीपीओ व सभी पर्यवेक्षिका के विरुद्ध नियम संगत कार्रवाई करने की माग करते हुए वेतन पर रोक लगाने का प्रस्ताव पारित किया। मंगुरहिया के मुखिया पप्पू तिवारी और चोचाही छपरा के मुखिया प्रसून सिंह ने जन्म- मृत्यु प्रमाण पत्र निर्गत करने में बिचौलियों के हावी होने का आरोप लगाया। जिला पार्षद देवेशचंद्र और चादकेवारी की मुखिया गुड़िया कुमारी ने सोहासा सोहासी , चकदेवरिया से लेकर उस्ती पंचायत में घरों में पानी घुसने का मुददा उठाया। अध्यक्षता प्रमुख रीता देवी व संचालन कार्यपालक अधिकारी सह बीडीओ संजय कुमार सिन्हा ने किया। बैठक में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ उमेशचंद्र शर्मा, जीविका की बीपीएम कुमारी पुष्पम, बीईओ प्रतिनिधि सह साधन सेवी हरिनंदन पासवान ,कृषि अधिकारी गुरुशरण चौधरी आदि मौजूद थे।

Edited By: Jagran