मुजफ्फरपुर, जेएनएन। जीआरपी ने सोमवार को स्थानीय रेलवे स्टेशन परिसर में अवैध ढंग से चल रही प्रीपेड टैक्सी व ऑटो सेवा को बंद करवा दिया। वहां दोनों बूथों पर ताला जड़ दिया गया है। वहीं सोनपुर मंडल अब संचालकों से तीन साल का किराया वसूली करेगा। इसकी प्रक्रिया शुरू कर दी गई।

   इंजीनियरिंग, आरपीएफ व वाणिज्य विभाग बूथ व वाहनों के जगहों की नापी कर रिपोर्ट सौंप चुका है। इसके आधार पर मुख्य वाणिज्य निरीक्षक किराया तक करने में जुट गए हैं। रेल थानाध्यक्ष नंद किशोर सिंह ने कहा कि मंडल से प्रीपेड टैक्सी व ऑटो को अवैध घोषित कर दिया। रेल एसपी को सूचना मिली। इसी के आधार पर प्रीपेड टैक्सी व ऑटो बूथ को बंद कर दिया गया। दोनों में ताला लगा दिया गया है।

   मालूम हो कि वर्ष 2017 में रेलवे स्टेशन परिसर में प्रीपेड टैक्सी व ऑटो बूथ तैयार कर सेवा चालू की गई थी। प्रत्येक टैक्सी वाले से 15 रुपया व ऑटो से 10 रुपया सर्विस शुल्क वसूली की गई। इसका रेलवे के पास कोई लेखा-जोखा नहीं था। इससे रेलवे को आर्थिक नुकसान हो रहा था। इसी पर सोनपुर मंडल के सीनियर डीसीएम ने अवैध चल रही प्रीपेड टैक्सी व ऑटो सेवा को बंद करने का निर्णय लेकर पत्र जारी कर दिया।  

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस