बेतिया, जासं। चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (पीके) अब राजनीत‍ि में पूरी तरह सक्र‍िय द‍िखने लगे हैं। पश्चिमी चंपारण के भितिहरवा गांधी आश्रम से अपनी पदयात्रा करते हुए लोगों से संवाद शुरुआत की। जनसुराज पदयात्रा के दूसरे दिन सोमवार को गौनाहा प्रखंड मुख्यालय में शिविर में पंचायत जनप्रतिनिधियों के साथ संवाद का कार्यक्रम आयोजित किया गया। सुबह 9:30 बजे पीके कैंप से बाहर निकले और परिसर में करीब एक दर्जन के आसपास स्थानीय पंचायत जनप्रतिनिधि एवं प्रबुद्ध ग्रामीणों से बातचीत की।

डा भीमराव आंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण

पंचायत जनप्रतिनिधियों से योजनाओं के कार्यान्वयन में आ रही दिक्कत और अन्य समस्याओं पर विस्तार से चर्चा की। गौनाहा रेलवे स्टेशन को हाल्ट में तब्दील किए जाने की केंद्र सरकार की घोषणा के विरोध में गौनाहा के मुखिया प्रतिनिधि वृजेश महतो एवं युवा समाजसेवी राजा सर्राफ ने रखा । पीके ने इस मामले के समाधान के लिए प्रयास करने का आश्वासन दिया । करीब एक घंटे तक संवाद के बाद शिविर में रात्रि विश्राम करने वाले करीब 125 पदयात्रियों के साथ पीके ने नाश्ता किया । उल्लेखनीय है कि पीके गौनाहा प्रखंड मुख्यालय में स्थापित डा भीमराव आंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के बाद जनसुराज यात्रा का शुभारंभ करेंगे। वे सबसे पहले गौनाहा प्रखंड की दोमाठ गांव में जाएंगे । वहां के लोगों से संवाद करेंगे। उसके बाद दोमाठ के दुर्गामंदिर परिसर में स्थानीय कलाकारों के द्वारा प्रस्तुत लोक सांस्कृतिक कार्यक्रम में शामिल होंगे।

जुमनिया हाईस्कूल के प्रांगण में विश्राम

दोपहर एक बजे के आसपास डूमरिया गांव में जनसंवाद करेंगे। उसके बाद पसंदा, धमौरा आदि गांवों में डोर टू डोर भ्रमण के बाद जमुनिया में संध्या चौपाल लगाएंगे । जुमनिया हाईस्कूल के प्रांगण में रात्रि विश्राम करेंगे । वहां 38 तंबू लगाए गए हैं। एक तंबू में आठ चारपाई लगाई हैं । हालांकि बताया जाता है कि जनसुराज यात्रा मं शामिल कुछ लोग गौनाहा के तंबू में भी रात्रि विश्राम कर सकते हैं।

Edited By: Dharmendra Kumar Singh

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट