मुजफ्फरपुर, जासं। मुजफ्फरपुर में दीपावली के बाद से वायु प्रदूषण का स्तर कम होने का नाम नहीं ले रहा। सड़क पर उड़ रहे धूलकण व जाम से लगातार प्रदूषण का ग्राफ ऊपर चल रहा है। गुरुवार को मुजफ्फरपुर का एक्यूआइ 347, पटना का 336 व गया का 187 एक्यूआइ रहा। 

सांस संबंधी बीमारियों का बढ़ रहा प्रभाव

सदर अस्पताल के मेडिसिन विशेषज्ञ डा.एसके पांडेय ने बताया कि प्रदूषण बढऩे से लोगों में सुबह में सांस लेने में परेशानी की शिकायतें मिल रही हैं। आम लोगों से अपील है कि वह मास्क का उपयोग करें। कचरे को इधर-उधर नहीं जलाएं। शहर में जाम भी प्रदूषण को बढ़ावा देने में सहायक हो रहा है। इससे बचाव पर ध्यान देने की जरूरत है।

ये बन रहे प्रदूषण के कारण

-- मिलावटी तेल से चल रहे और पुराने वाहनों का धुआं

- सड़कों पर उड़ रहे धूलकण और जाम

वायु प्रदूषण का ये रहा ग्राफ

तिथि----स्तर

तीन नवंबर---244 एक्यूआइ

चार नवंबर---285 एक्यूआइ

पांच नवंबर---306 एक्यूआइ

छह नवंबर--303 एक्यूआइ

सात नवंबर--321 एक्यूआइ

आठ नवंबर ---358 एक्यूआइ

10 नवंबर ----249 एक्यूआइ

11 नवंबर----256 एक्यूआइ

12 नवंबर----202 एक्यूआइ

13 नवंबर---255 एक्यूआइ

14 नवंबर---254 एक्यूआइ

15 नवंबर--231 एक्यूआइ

16 नवंबर---290 एक्यूआइ

17 नवंबर---254 एक्यूआइ

18 नवंबर---316 एक्यूआइ

19 नवंबर---333 एक्यूआइ

20 नवंबर--353 एक्यूआइ

21 नवंबर---347 एक्यूआइ

22 नवंबर---351 एक्यूआइ

23 नवंबर-----344 एक्यूआइ

24 नवंबर--357 एक्यूआइ

25 नवंबर --347 एक्यूआइ

वायु गुणवत्ता का ये है मानक

शून्य से 50 के बीच एक्यूआइ अच्छा, 51 से 100 संतोषजनक, 101 से 200 मध्यम, 201 से 300 खराब, 301 से 400 बहुत खराब और 401 से 500 के बीच को गंभीर श्रेणी में माना जाता है। 

Edited By: Ajit Kumar