दरभंगा (बिरौल), जासं। बिरौल थानाक्षेत्र के अवधेश स‍िंह हत्याकांड में पुलिस कार्रवाई तेज कर दी है। शादी समारोह की फोटोग्राफी व वीडियोग्राफी में शामिल ड्रोन कैमरा और सभी वीडियो कैमरा के फुटेज की जांच शुरू कर दी गई है। पुलिस ने ड्रोन कैमरा और वीडियो कैमरा के चिप को तत्काल जब्त कर लिया है। टेंट में लगे कपड़ों में भी पुलिस गोली के निशान को खोजने में जुटी है। घटना स्थल पर मिली जानकारी के आधार पर पुलिस हत्याकांड के कारणों का सुराग तलाश रही है। साथ ही घटना के वक्त अवधेश के साथ खाने के टेबल पर बैठे पांच लोगों की खोज में पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। इसमें उप प्रमुख के पति भी शामिल हैं। बिरौल एसडीपीओ मनीष चंद्र चौधरी के नेतृत्व में पुलिस ने ताबड़तोड़ कई ठिकानों पर छापेमारी लेकिन, तीसरे दिन भी पुलिस को कोई सफलता नहीं मिली।

इधर, पुलिस ने हिरासत में लिए गए बिरौल उप प्रमुख अर्पणा कुमारी और उनके ससुर रामसागर स‍ि‍ंह व सास को छोड़ दिया है। हालांकि, घंटों तक सभी थाने में रखने को लेकर उप प्रमुख के समर्थकों ने पुलिस के खिलाफ नाराजगी व्यक्त की है । फिलहाल, निशिहारा गांव में पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है। जो पूरी गतिविधि पर नजर रख रहे हैं। इधर, घटना के तीसरे दिन भी पुलिस को आवेदन के लिए घंटों इंतजार करना पड़ा। काफी मशक्कत बाद पलवा निवासी व टेंट कारोबारी अवधेश स‍ि‍ंह की पत्नी काजल कुमारी ने पांच लोगों को आरोपित कर प्राथमिकी दर्ज कराई। इसमें मनोज स‍ि‍ंह, उप प्रमुख के पति श्रवण स‍ि‍ंह उर्फ छोटू , टेंट कारोबारी चंदन स‍ि‍ंह, धर्मेंद्र स‍ि‍ंह और राजेश कुमार कुंवर शामिल हैं। दर्ज प्राथमिकी में काजल ने कहा है कि श्रवण स‍ि‍ंह उनके पति को गोली मारकर हत्या कर दी। कहा है कि 22 मई को निशिहारा गांव के टेंट कारोबारी चंदन स‍ि‍ंह उनके पति को फोन कर चचेरी बहन की शादी में टेंट से जुड़े कार्यों में सहयोग करने के लिए बुलाया था। जहां उनके पति चार-पांच मजदूर लेकर निशिहारा गांव गए थे। जहां रविवार की रात लगभग दो बजे श्रवण स‍ि‍ंह उनके पति के सिर में गोली मारकर हत्या कर दी।

गोली लगी एक, खोखा मिला दो

निशिहारा गांव में रविवार की रात शादी समारोह दौरान पलवा निवासी व टेंट कारोबारी अवधेश स‍ि‍ंह की हत्या की गुत्थी सुलझने की जगह उलझती जा रही है। दरअसल, अवधेश के सिर में मात्र एक गोली मारी गई थी। जबकि, मौके से दो खोखा बरामद किया गया है। ऐसी स्थिति में आशंका जताई जा रही है अवधेश के ऊपर दो गोली चलाई गई, पहली गोली में जब वह बच गया तो फिर से गोली चलाई गई। हालांकि, पूछताछ दौरान लोगों ने बताया कि शादी समारोह दौरान जमकर हर्ष फायर‍िंग हुई थी। लेकिन, हर्ष फायर‍िंग के जगह से घटना स्थल का कोई संबंध नहीं है। जहां गोली मारी गई उस वक्त अवधेश अपने पांच साथियों के साथ एक ही टेबल पर खाना खा रहा था। इस बीच उसे सामने से किसने गोली मारी यह उसके साथियों के गिरफ्तारी के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा।

एक तरफ पड़ा था शव तो दूसरी तरफ हुआ स‍िंदूर दान :

अवधेश की हत्या के बाद अफरातफरी की स्थिति हो गई थी। सभी लोग भागने लगे। इस बीच घर वालों को मंडप पर घटना की जानकारी मिली। मौके पर पुलिस आती अथवा शव को उठाया जाता उससे पहले घर वालों ने आनन-फानन में स‍िंदूर दान की रस्म को पूरा कर वर-वधू को विदा कर दिया। बता दें कि घटना से पूर्व सभी बारात भोजन कर वापस चले गए थे।

प्राथमिकी दर्ज की गई है। सभी पहलुओं पर जांच की जा रही है। आरोपित को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी चल रही। बहुत जल्द मामले का पर्दाफाश कर दिया जाएगा। - मनीष चंद्र चौधरी, पुलिस उपाधीक्षक, बिरौल

Edited By: Dharmendra Kumar Singh