मधुबनी (मधेपुर), जासं। मधेपुर पुलिस ने शराब संबंधी अलग-अलग मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। जिसमें एक महिला भी शामिल है। गश्ती के दौरान एसआई टीपी स‍िंह ने मधेपुर-भेजा पथ पर एक व्यक्ति को अजीब तरीके से बाइक चलाते देख शंका के आधार पर रोका। बाइक सवार के मुंह से शराब कि गंध आ रही थी। पुलिस उसे थाने लाकर ब्रेथ एनेलाइजर से जांच किया तो शराब पीने की पुष्टि हुई। उस व्यक्ति की पहचान थाना क्षेत्र के कुर्सो गांव निवासी सुभाष कुमार चौधरी के रूप में की गई।

सुभाष कुमार चौधरी उमवि नीमा में प्रभारी प्रधानाध्यापक के रूप में पदस्थापित हैं। उनका बाइक भी पुलिस ने जब्त कर लिया। दूसरा मामला तरडीहा गांव का है। जहां शिव चरण कामत नाम का व्यक्ति शराब पीकर अपनी मां व पत्नी के साथ मारपीट कर रहा था। इस बात की सूचना आरोपी की पत्नी ने थाना को दिया। जहां से एसआई टीपी स‍िंंह ने पुलिस बल के साथ तरडीह जाकर आरोपी को थाना लाया। ब्रेथ एनलाइजर से जांचोपरांत शराब पीने की पुष्टि होने पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया। जबकि तीसरी घटना थाना क्षेत्र के महिसाम गांव का है। पुलिस को गुप्त सूचना मिली कि महिसाम लाइन टोल स्थित एक घर में देशी चुलाई शराब बेचा जा रहा है। प्रशिक्षु एसआई महादेव साहु ने महिला पुलिस बल के साथ उक्त घर में छापेमारी की। जहां से दो लीटर देशी चुलाई शराब बरामद हुआ। पुलिस ने घर पर मौजूद पुलकित राम की पत्नी रामदाई देवी को गिरफ्तार कर लिया। उक्त सभी के विरुद्ध अलग अलग प्राथमिकी दर्ज कर रविवार को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। उक्त जानकारी थानाध्यक्ष हरि किशोर यादव ने दी।

शराब धंधे में संलिप्त मां-बेटा गिरफ्तार

मधेपुर। भेजा थाना पुलिस ने गश्ती के दौरान भेजा गांव के ही एक घर से दस लीटर देशी चुलाई शराब के साथ तीन लोगों को पकड़ा। थानाध्यक्ष अरव‍िंद कुमार ने बताया कि सुबह में गश्त पर थे। इसी दरम्यान सूचना मिली कि संतोषी देवी उर्फ बंसती अपने घर पर देशी चुलाई शराब बेचती है और अभी कुछ लोग शराब पी भी रहे हैं। सूचना पर उसके यहां छापेमारी की गई। भेजा गांव के परमेश्वर साह की पत्नी संतोषी देवी उर्फ बसंती तथा उसके बेटे निकेश कुमार साह लोगों को शराब पिला रहा था। इन दोनों के साथ गांव के ही मानव दास को भी शराब पीते पकड़ा गया। बाद में घर की तलाशी लेने पर दस लीटर देशी चुलाई शराब बरामद हुआ। इस कार्रवाई में थानाध्यक्ष अरव‍िंद कुमार, एएसआई उमेश पाण्डेय के अलावे अन्य पुलिस बल शामिल थे।

Edited By: Dharmendra Kumar Singh