मुजफ्फरपुर, जेएनएन। बीआरए बिहार विश्वविद्यालय में रेगुलर मोड में एमफिल कोर्स में नामांकन का रास्ता साफ हो गया है। वर्तमान सत्र में नामांकन की प्रक्रिया शीघ्र शुरू होने वाली है। विवि प्रशासन नामांकन को लेकर विचार कर रहा है। एमफिल कोर्स को सीनेट और सिंडिकेट से पहले ही मंजूरी मिल चुकी है। साथ ही राजभवन से भी इस कोर्स को शुरू करने को लेकर आदेश पहले ही आ चुका है। इसके बाद से विद्यार्थी इस कोर्स के शुरू होने को लेकर टकटकी लगाए हुए हैं। हालांकि, अब उन विद्यार्थियों को इस कोर्स के शुरू होने से फायदा होगा।

एमफिल में लगभग एक हजार सीट होंगे

एमफिल में सभी 25 विषयों में 40-40 सीट होंगे। इस कोर्स में नामांकन लेने के लिए विद्यार्थियों को प्री एमफिल एडमिशन टेस्ट और उसके बाद साक्षात्कार की प्रक्रिया से गुजरना होगा। इधर, यूजीसी नेट, जेआरएफ, स्लेट और टीचर फैलेसिप होल्डर्स को प्रवेश परीक्षा की प्रक्रिया से दूर रखा गया है। ये अभ्यर्थी सीधे साक्षात्कार में भाग ले सकते हैं। इसमें नामांकन के लिए विद्यार्थियों को पीजी में कम से कम 55 फीसद अंक होना जरूरी है। एससी-एसटी के छात्र-छात्राओं को इसमें पांच फीसद रियायत दी जाएगी। 

दो वर्ष का होगा कोर्स, छात्राओं और दिव्यांगों को मिलेगा एक वर्ष अधिक

रेगुलर मोड में सामान्य विद्यार्थियों के लिए एमफिल कोर्स दो वर्षों का होगा। हालांकि, छात्राओं और 40 फीसद या इससे अधिक दिव्यांग होने वाले विद्यार्थियों को एक वर्ष का अधिक समय दिया जाएगा। साथ ही महिलाओं को 240 दिनों का मेटरनिटी लीव भी दिया जाएगा। एमफिल में नामांकन के पहले सत्र में छह महीने का कोर्स वर्क होगा। इसमें प्रत्येक थ्योरी पेपर के लिए 40 घंटे दिए जाएंगे। साथ ही इसमें डिसर्टेशन भी जमा करना होगा। 

पोस्ट ग्रेजुएट रिसर्च काउंसिल का होगा गठन

एमफिल कोर्स को संचालित करने के लिए पोस्ट ग्रेजुएट रिसर्च काउंसिल (पीजीआरसी) का गठन किया जाएगा। यह काउंसिल इस कोर्स के एकेडमिक, एडमिस्ट्रेटिव और एमफिल के डिग्री से रिलेटेड पॉलिसी मैटर्स को देखेगी। साथ ही इसमें विद्यार्थियों की समस्याओं का समाधान भी करेगी।

 इस बारे में बीआरए बिहार विश्वविद्यालय के प्रवक्ता डॉ.सतीश कुमार राय ने बताया कि एमफिल में नामांकन के लिए सभी प्रक्रियाएं पूरी कर ली गई हैं। अब कुलपति के साथ बैठक कर तिथि का निर्धारण कर लिया जाएगा। इसके बाद इसी सत्र से नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो जाएगा। 

Posted By: Murari Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस