मुजफ्फरपुर। स्थानीय रेलवे स्टेशन की प्लेटफॉर्म संख्या तीन पर शनिवार को पवन एक्सप्रेस की अनारक्षित बोगी में भीड़ के कारण यात्री चढ़ने से वंचित हो गए। इसी बीच ट्रेन खुलने पर यात्रियों ने वैक्यूम कर ट्रेन को रोक दिया।

कोचिंग डिपो के कर्मियों ने पहुंचकर वैक्यूम कर ठीक किया। इसके बाद ट्रेन रवाना की गई। इससे ट्रेन पांच मिनट विलंब हो गई। वहीं जेनरल बोगी में जगह नहीं मिलने पर कई यात्रियों ने दरवाजे पर लटक कर सफर की। यात्रियों ने कहा कि मुंबई जाना मुश्किल है। पवन एक्सप्रेस में जेनरल कोच कम कर दिया गया। इससे यात्री टिकट लेने के बाद भी चढ़ नहीं पा रहे हैं। मालूम हो कि छठ पर्व पर घर आए लोगों की इस समय वापसी हो रही है। वे रोजगार के लिए फिर महानगरों की ओर रवाना हो रहे हैं।

आरक्षित टिकट की जगह यात्री को थमा दिया कैंसिल टिकट : आरक्षण काउंटर पर हेराफेरी करने वाले गिरोह के सदस्यों ने एक यात्री को शिकार बनाकर कंफर्म टिकट लेकर कैंसिल टिकट थमा दिया। शनिवार को आनंद बिहार जाने वाली सप्तक्रांति एक्सप्रेस में टीटीई ने जांच के क्रम में कैंसिल टिकट पाई। इसके बाद यात्री से पूछताछ की। यात्री को ट्रेन से उतार दिया गया। पीड़ित यात्री ने टीटीई को बताया कि वेटिंग में टिकट था। आरक्षण काउंटर पर कंफर्म के बारे में जानकारी लेने गया। काउंटर पर भीड़ थी। इसके बाद वह बाहर निकल गया। वहां दो युवक खड़े थे उनसे पूछताछ के क्रम में उनलोगों ने चालाकी से उसका टिकट बदल कैंसिल टिकट थमा दिया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप