मुजफ्फरपुर : पानी की निकासी की माग को लेकर मड़वन प्रखंड की गवसरा पंचायत के अनंत करजा के लोगों ने अनंत करजा के समीप एनएच 722 को जाम कर दिया। सड़क जाम से राहगीरों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। सड़क जाम कर रहे लोगों का कहना था कि भारी बरसात के कारण अनंत करजा के सैकड़ों घरों में पानी घुस गया है। पानी निकासी की कोई व्यवस्था नहीं है। पानी निकलने का जो रास्ता था, उसपर मिट्टी भराई कर बंद कर दिया गया है। लोगों ने कहा कि जलजमाव से त्रस्त ग्रामीण सड़क काट कर पानी निकासी का प्रयास करते हैं तो स्थानीय लोगों द्वारा उसका विरोध किया जा रहा है। लोग प्रशासन से अविलंब पानी निकासी की व्यवस्था करने की माग कर रहे थे। लगभग एक घटे बाद करजा पुलिस व बीडीओ सुनीता कुमारी के समझाने बुझाने और एक-दो दिनों में पानी निकासी की व्यवस्था किए जाने के आश्वासन पर लोगों ने सड़क जाम समाप्त कर दिया। उसके बाद आवागमन चालू हो सका। इस संबंध में बीडीओ ने बताया की जल्द ही पानी निकासी की व्यवस्था कराई जाएगी।

मीनापुर की 27 पंचायतों को बाढ़ग्रस्त घोषित करने का प्रस्ताव पारित

मीनापुर प्रखंड सभागार में प्रखंड अनुश्रवण समिति की बैठक प्रमुख राधिका देवी की अध्यक्षता में हुई जिसका संचालन सीओ राम जेपी पासवान ने किया। इसमें प्रखंड की 28 पंचायतों में से 27 पंचायतों को पूर्ण बाढ़ प्रभावित घोषित करने का प्रस्ताव सर्वसम्मति से पारित किया गया। जिले को प्रस्ताव अनुमोदन हेतु भेजा जाएगा। वहीं, आवागमन सुचारू करने के लिए और नावों की व्यवस्था कराने, सामुदायिक किचेन चलाने, पशुओं के चारे की व्यवस्था पर चर्चा हुई। नाविकों के भुगतान करने की बात हुई। बाढ़ प्रभावित की सूची में गड़बड़ी नहीं होने की हिदायत दी गई। सीओ ने बताया कि अगली बैठक जल्द की जाएगी। सभी पंचायतों को बाढ़ प्रभावित घोषित करने का प्रस्ताव जिले को अनुमोदन हेतु भेजा जाएगा।

Edited By: Jagran