मुजफ्फरपुर: बोचहां प्रखंड क्षेत्र के सरफुद्दीनपुर में ग्रामीण दवा विक्रेता संघ मुजफ्फरपुर पूर्वी की बैठक हुई। अध्यक्षता डा. भूषण सिंह तथा संचालन सचिव महेशलाल चौधरी ने किया। अध्यक्ष डा. भूषण सिंह ने कहा कि नए औषधि निरीक्षक से सभी दवा दुकानदार भयाक्रांत हैं। निरीक्षण के दौरान वे दुकानदारों को काफी प्रताड़ित करते हैं। ऐसा अगर रहा तो दवा दुकानदार हड़ताल पर जाने को विवश होंगे। दवा दुकानदारों को बताया गया कि जब औषधि निरीक्षक आएं तो अपने कागजात की जाच कराएं। इसके बाद किसी तरह का दबाव दिया जाता है तो संघ को सूचित करें, ताकि संघ इसकी जानकारी वरीय अधिकारियों को दे। इसे लेकर संबंधित पदाधिकारी से मिलने का निर्णय लिया गया। मौके पर अमित कुमार कर्ण, मनीष कुमार, संतोष कुमार, सचिन कुमार, ननीन कुमार, सुधीर सिंह, लालबाबू महासेठ, नुनू सिंह, मुकेश सिंह तथा गायघाट कटरा बोचहा तथा बंदरा के सभी दुकानदार मौजूद थे। सभी ने एकजुटता का परिचय देते हुए संघ के निर्णय को समर्थन देने का निर्णय लिया।

महिला की मौत पर नर्सिग होम में तोड़फोड़, हंगामा

मुरौल प्रखंड के रैनी गाव के समीप स्थित नìसग होम में महिला की मौत पर उसके स्वजनों ने हंगामा एंव नìसग होम में तोड़फोड़ की। हंगामे को देखते नìसग होम संचालक एंव कर्मी फरार हो गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए एसकेएमसीएच भेज दिया। जानकारी के अनुसार महिला को दो बेटी पहले से है। गर्भ में पाच माह की बेटी होने पर उसका गर्भपात करवाने के लिए अपनी बहन के यहा ढोली मुर्गियाचक आई थी। उसे नर्सिग होम में भर्ती कराया गया था जहां उसकी मौत हो गई। वह मूलरूप से सीतामढ़ी की रहनी वाली थी। उसका मायका सकरा के बेझा गाव में है। मृतका के स्वजनों ने इलाज में कोताही का आरोप लगाते हुए वहां हंगामा कर दिया। नर्सिग होम संचालक पर अवैध वसूली का भी आरोप लगाया। हंगामा देख संचालक व कर्मी वहां से फरार हो गए। थानाध्यक्ष सरोज कुमार ने बताया कि सूचना पर पहुंची पुलिस ने मृतका के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इस संबंध में लिखित शिकायत नहीं की गई है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

Edited By: Jagran