मुजफ्फरपुर :कोरोना संक्रमण के दौरान लागू लाकडाउन से अनलाक होने के बाद भी आरटीपीएस में सिर्फ आनलाइन ही काम हो रहा है। इसकी वजह है कि राज्य सरकार द्वारा आमलोगों के लिए प्रखंड या अंचल कार्यालय में प्रवेश अब भी वíजत है। यहा बनने वाले प्रमाण पत्रों में जाति, आय, आवासीय, ईडब्ल्यूएस, एलपीसी का काम आवेदक ऑनलाइन ही कर रहे हैं। मुशहरी में प्रतिदिन 100 से 150 आवेदन सिर्फ प्रमाण पत्रों के आनलाइन ही आ रहे हैं जिसका निष्पादन कर संबंधित व्यक्ति के मेल आइडी पर भेज दिया जाता है। इसके अलावा वर्ष 2017 में आई बाढ़ व लाभान्वितों की सूची आधार नंबर व मोबाइल नंबर के साथ अपडेट किया जा रहा है। इसमें सभी आरटीपीएस कíमयों एवं कार्यपालक सहायकों को लगाया गया है। कोविड गाइडलाइन का पालन कड़ाई से हो रहा है। कोई भी आवेदन हाथ से लेना पूरी तरह वíजत है। वहीं, कुछ कíमयों को बिना मास्क या मास्क है भी तो सही से नहीं लगाया जा रहा है। आरटीपीएस काउंटर के पास आवेदक संजय कुमार ने बताया कि मुझे प्रमाणपत्र की अति आवश्यकता है। आफलाइन आवेदन ले ही नहीं रहे हैं। ऑनलाइन में विलंब होता है। क्या करें समझ में नहीं आ रहा। वहीं, मुकेश कुमार जोशी ने बताया कि आनलाइन आवेदन कर चुके हैं, लेकिन प्रमाणपत्र अबतक नहीं मिला। इस प्रक्रिया में विलंब होता है। इस संबंध में सीओ सुधाशु शेखर ने बताया कि कार्य समय से हो रहे हैं। विलंब होना स्वभाविक है। कभी बिजली चली जाती है, कभी नेट स्लो हो जाता है तो कभी सॉफ्टवेयर में गड़बड़ी हो जाती है। फिर भी कर्मी समय से कार्य का निष्पादन कर रहे हैं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप