मुजफ्फरपुर ( गायघाट), जासं। थाना क्षेत्र के जारंग चौक स्थित सेंट्रल बैंक आफ इंडिया की शाखा से रुपये निकालकर बाहर निकली महिला ठगी का शिकार हो गई। दो ठगों ने डेढ़ लाख का लालच देकर 22 हजार तीन सौ रुपये की ठगी कर ली। असिया गांव की पीडि़ता कल्पी देवी ने बताया कि जैसे ही बैंक से रुपये की निकासी कर बाहर निकलने लगी, ठगों ने उससे नजदीकी बढ़ाकर बातचीत शुरू कर दी। कहा कि मेरे पास इस रुमाल में डेढ़ लाख रुपये हैं और एक आदमी का इंतजार कर रहे हैं। इसी दौरान ठगों ने महिला को लालच देते हुए कहा कि यह रुपये फिलहाल अपने पास रख लीजिए और मुझे केवल कुछ ही रुपयों की जरूरत है। इसलिए आप अपना पैसा मुझे दे दीजिए और मैं तुरंत एक काम कर वापस आता हूं। महिला डेढ़ लाख रुपये समझकर लालच में आ गई और अपना रुपया ठगों को दे दिया। पैसे मिलते ही ठग वहां से भाग निकले और महिला ने जब रुमाल खोलकर देखा तो उसमें पैसे की जगह कागज के बंडल थे। महिला वहां चीख-पुकार करने लगी। सूचना पर पहुंची गायघाट पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

इनाम का झांसा देकर 40 हजार उड़ाए

मुजफ्फरपुर। साइबर फ्राड द्वारा इनाम मिलने का झांसा देकर बैंक खाते से 40 हजार रुपये उड़ा लिए गए। मामले में कंपनीबाग योगियामठ के अनुराग गुप्ता ने नगर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है। पुलिस का कहना है कि मामला दर्ज कर जांच कर आगे की कार्रवाई की जा रही है। आवेदक ने पुलिस को बताया कि रेडक्रास एसबीआइ में उनका खाता है। बैंक की तरफ से डेबिट कार्ड मिला। इसके दो दिन बाद बैंक के नाम से एक काल आया। इसमें कहा कि आपको इनाम मिला है। इसके लिए एक एप को लोड कर उसको भरना है। उस एप को लोडकर कर उसे भरने के बाद पांच बार में 40 हजार तीन सौ रुपये उड़ा लिए गए। बता दें कि साइबर फ्राड द्वारा तरह-तरह का हथकंडा अपनाकर बैंक खाते से रुपये उड़ाने का खेल चल रहा है, मगर साइबर फ्राड की गिरफ्तारी नहीं हो रही है।

Edited By: Dharmendra Kumar Singh