पश्चिम चंपारण, जासं। शिक्षा विभाग ने कक्षा एक से बारहवीं तक के सभी सरकारी विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों को मेधासॉफ्ट पोर्टल पर 2021-22 सत्र के लिए नए नामांकित छात्र-छात्राओं की ऑनलाइन एंट्री करने के आदेश दिए हैं। यदि ब'चों के पुराने रिकार्ड में सुधार करने हों तो पोर्टल पर जाकर ऐसा कर सकते हैं। पोर्टल पर विद्यार्थी का नाम, पिता/अभिभावक का नाम, कक्षा, बैंक खाता तथा आधार संख्या आदि को अपलोड करना अनिवार्य है। इससे विभिन्न लाभुक योजनाओं से बच्‍चों को लाभ की सुविधा देने में आसानी होगी। वहीं यदि किसी विद्यार्थी को एक विद्यालय से नाम हटाकर दूसरे विद्यालय में नामांकन कराना है तो इसके लिए भी विद्यालय संबंधित छात्र-छात्राओं को पोर्टल के माध्यम से ही विद्यालय परित्याग प्रमाण पत्र (टीसी) दिया जा सकेगा। जिसके आधार पर संबंधित विद्यार्थी किसी अन्य विद्यालय में नामांकन ले पाएंगे। शिक्षा विभाग के विशेष सचिव मनोज कुमार ने इस संबंध में सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को आदेश दिया।

20 अक्टूबर तक पूरा करना होगा काम

शिक्षा विभाग के विशेष सचिव के मुताबिक 20 सितंबर से 20 अक्टूबर तक सभी जिलों के सरकारी व सहायता प्राप्त विद्यालयों के नामांकित ब'चों के रिकार्ड को पोर्टल पर अपलोड करने का निर्देश दिया गया है। शैक्षणिक सत्र 2020-21 में जो ब'चे जिन कक्षाओं में नामांकित थे और कोरोना महामारी के परिपेक्ष्य में अगली कक्षाओं में प्रोन्नत हो चुके हैं और किसी दूसरे विद्यालय में नामांकन ले लिया है तो उसकी इंट्री भी मेधासॉफ्ट में बैंक खाता, आधार संख्या, आदि के साथ पोर्टल पर अपलोड किया जाना अनिवार्य है। 20 सितंबर से नए नामांकन की एंट्री के अलावा ब'चों के पुराने रिकॉर्ड में सुधार भी कर सकते हैं। यह कार्य युद्ध स्तर पर पूर्ण कराया जाना है। इसके लिए जिला शिक्षा पदाधिकारी इस प्रक्रिया की मॉनिटरि‍ंंग करेंगे। बच्‍चों का डॉटा जल्‍द अपलोड करने के ल‍िए द‍िशा न‍िर्देश जारी कर द‍िया गया। एक माह के अंदर इसे पूरा कर लेना है।