मुजफ्फरपुर, जासं। पंचायत चुनाव के उम्मीदवारों को एक जनवरी 2022 तक मीनापुर प्रखंड कार्यालय मेें अपना चुनाव व्यय विवरणी निर्धारित प्रपत्र में भरकर जमा करना है। इसके साथ ही शपथ पत्र प्रपत्र 29 और 30 में भरकर जमा करना है। इस संबंध में बीडीओ सह प्रखंड निर्वाची पदाधिकारी भुवनेश मिश्रा ने बताया कि निर्धारित समय सीमा में व्यय विवरणी शपथ पत्र के साथ नहीं देने वाले उम्मीदवार चुनाव आयोग द्वारा अयोग्य घोषित हो जाएंगे।

सात मतगणना पदाधिकारियों व कर्मचारियों से स्पष्टीकरण

मुजफ्फरपुर। पंचायत चुनाव के नौवें चरण में गायघाट प्रखंड की मतगणना के दौरान अनुपस्थित सात पदाधिकारियों एवं कर्मचारियों पर कार्रवाई की तलवार लटक गई है। जिला निर्वाचन पदाधिकारी एवं डीएम प्रणव कुमार ने स्पष्टीकरण मांगा है। इनमें कई बैंकों के पदाधिकारी शामिल हैं। जारी पत्र में डीएम ने कहा कि बाजार समिति स्थित मतगणना केंद्र पर वोटों की गिनती के लिए प्रतिनियुक्ति की गई थी। 26 नवंबर को मतगणना के दौरान उपस्थित नहीं होने से कार्य में व्यवधान हुआ। यह कृत्य सरकारी सेवक आचार नियमावली के प्रतिकूल और पंचायती राज अधिनियम का उल्लंघन है। इस संबंध में तीन दिनों में कार्यालय प्रधान के माध्यम से स्पष्टीकरण उपलब्ध कराएं कि क्यों नहीं उनके विरुद्ध अनुशासनिक कार्रवाई शुरू की जाए।

इनसे पूछा गया स्पष्टीकरण 

बीआरए बिहार विवि के लिपिक नरेंद्र कुमार ङ्क्षसह, केंद्रीय विद्यालय गन्नीपुर के पीआरटी अनिल प्रधान, पीएचईडी मुजफ्फरपुर अंचल एकबाल अहमद, एलआइसी के डीओ अखिलेश कुमार, बीओआइ भगवानपुर शाखा के प्रबंधक अजय कुमार एवं एसबीआइ अहियापुर शाखा के प्रबंधक रामाशंकर हिमांशु। 

प्रमुख-उपप्रमुख के चुनाव को लेकर सरगर्मी बढ़ी

सकरा (मुजफ्फरपुर), संस: प्रखंड प्रमुख के चुनाव को लेकर घमासान मचा है। प्रमुख के दावेदार अपने समर्थको को गोलबंद कर रहे हैं। पूर्व प्रमुख मुमताज बेगम के पति नूर आलम, पूर्व समिति सदस्य हैदर अली की पत्नी साबिया खातून, बरियारपुर से समिति सदस्य चंदा कुमारी दावेदारी कर रहे हैं। वहीं, उप प्रमुख मदन प्रसाद सिंह के अलावा राजापाकड़ से समिति सदस्य निर्वाचित छाया कुमारी भी उप प्रमुख की दावेदारी कर रही हैं। वहीं, खालीकनगर गौड़ीहार के निवर्तमान मुखिया महेश शर्मा की पत्नी रूबी शर्मा ने भी उपप्रमुख की दावेदारी शुरू कर दी है। सभी दावेदार अपने पक्ष में सदस्यों को एकजुट करने में भिड़े हैं। जनप्रतिनिधियों के अलावा राजनीति से सरोकार रखने वाले लोग प्रमुख व उपप्रमुख के चुनाव को लेकर काफी दिलचस्पी दिखा रहे हैं।

Edited By: Ajit Kumar