पश्‍च‍िम चंपारण (रामनगर), जासं। ब‍िहार के पश्‍च‍िम चंपारण में एक अचंभि‍त करने वाली घटना का पर्दाफाश हुआ है। प्रेम प्रसंग में युवती हत्‍या की घटना में पुल‍िस अभी तेजी से कार्रवाई में जुटी थी। इसी बीच अचानक युवती थाने पहुंच गई। युवती को सामने खड़ा देख पुल‍िस भी चौंक गई है। बताते चले क‍ि नगर के बैकुंठपुर गांव में प्रेम प्रसंग में युवती की हत्या कर जलाने का मामला गलत साबित हुआ है। कथित रूप से मृत युवती को बगहा से पुलिस ने बरामद किया है। एसडीपीओ सत्यनारायण राम ने बताया कि युवती अपने प्रेमी से मिलने गोरखपुर गई थी। जहां उसकी मुलाकात नहीं हुई तो, वह बगहा महिला थाने में पहुंच गई। जिसे बरामद कर लिया गया है। इधर युवती के मिल जाने से हत्या के मामले में नामजद लोगों को राहत मिली है।

युवती के प‍िता ने दर्ज कराया था हत्‍या का मामला

बता दें कि मामले में युवती के पिता ने स्थानीय थाने में हत्या का मामला दर्ज कराया था। जिसमें बैकुंठपुर गांव निवासी दशरथ यादव, रामधनी यादव, राधेश्याम यादव, सुरेंद्र यादव, रंभा देवी व पशवा कुरैशी को नामजद किया था। आरोप था कि बेटी का प्रेम प्रसंग बैकुंठपुर निवासी सुरेंद्र यादव के पुत्र दशरथ यादव से चल रहा था। बीते 22 जुलाई को उसे बहला फुसलाकर शादी की नीयत से दशरथ दिल्ली लेकर चला गया। दिनांक 25 जुलाई को दोनों दिल्ली से लौटकर बगहा चले आए। जिसके बाद इस मामले में समझौता हो गया। आपसी सहमति से दशरथ उसे अपने घर पर रखा था। बीते 11 अगस्त को पता चला कि युवती की हत्या आरोपितों ने कर दी है। साथ ही साक्ष्य मिटाने के लिए मसान नदी के किनारे उसके शव को जला दिया है। इसकी पूछताछ करने जब उनके घर गया तो, वहां दशरथ नहीं मिला। उसके पिता ने बताया कि तुम्हारी बेटी 10 तारीख को ही घर से भाग गई है। युवती के पिता ने मसान नदी से साक्ष्य के रूप में कुछ अस्थि भी जमा करके रखा था।

Edited By: Dharmendra Kumar Singh