मुजफ्फरपुर, ऑनलाइन डेस्क। Bihar lockdown, Muzaffarpur Lockdown News Update: कोरोना संक्रमण के कारण बिगड़ रही स्थिति के बीच सीएम नीतीश कुमार ने अभी कुछ ही देर पहलेे बि‍हार मेें पूर्र्ण् लॉकडाउन की घोषणा की।  उन्होंने ट्विटर पर इसकी जानकारी साझा की है। पूर्ण लॉकडाउन की सूचना लोगों तक पहुंचते ही अफरातफरी की स्थिति बन गई। अधिकतर लोग राशन व अन्य जरूरी सामान इकट्ठा करने के लिए बाजार की तरफ निकले। किराना दुकानों में भीड़ बढ़ गई है, जब‍क‍ि ब‍िहार में पहले से ही  रात के समय सख्ती से काम चलाया जा रहा था, लेकिन इसकी वजह से संक्रमण की रफ्तार पर कोई भी प्रभाव नहीं देखने को मिल रहा है। लोगों के अपने और आसपास के लोग इसकी वजह से मरते जा रहे हैं। ऐसे में लोगोें में भय का माहौल है। वे किसी भी तरह से इससे निकलना चाह रहे हैं। इसके लिए लाॅकडाउन जैसे सख्त कदम उठाए जाने की मांग भी उठने लगी है। यह मांग तब उठ रही है जबकि पिछली बार इसकी वजह से अर्थव्यवस्था की कमर टूट गई थी। लोगों की हालत पतली हो गई थी। 

अभी तक सरकार ने केवल नाइट कर्फ्यू का सहारा लिया है, लेकिन प्रशासनिक स्तर पर संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए जिस तरह से तैयारी चल रही है उससे यही कहा जा सकता है कि लॉकडाउन की दिशा में कदम बढ़ चुके हैं। क्योंकि मेगा कंटेनमेंट जोन बनने के बाद उस एरिया मेें प्रशासन की ओर से उसी तरह की सख्ती बरतने को कहा गया है। सीएम नीतीश कुमार ने आपदा प्रबंधन सम‍ित‍ि की बैठक में कहा था कि यदि संक्रमण की रफ्तार को नाइट कर्फ्यू  की मदद से तोड़ पाना संभव नहीं होगा तो इससे भी सख्त कदम उठाने पर विचार किया जाएगा। इससे पहले उन्हाेंने इस पर लगाम लगाने के लिए सभी जिलों के प्रभारी मंत्रियों के नामों की घोषणा कर दी है। ऐसे में माना जा रहा है कि सभी अपने अपने जिलों की स्थिति की समीक्षा करने के बाद सीएम को रिपोर्ट देंगे। उसके अनुसार आगे का निर्णय लिया जा सकता है। इस बीच हम सुप्रीमो पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने भी कम से कम एक सप्ताह के लिए लॉकडाउन लगाने की मांग की है। वैसे पिछली बैठक में साप्तांत लॉकडाउन  किए जाने पर भी विचार किया गया था। हालांकि सहमति नहीं बन सकी थी। अब देखना है क‍ि फैसला क्‍या होता है?